Virus का Full Form क्या होता है? – Virus Full Form in Computer [Hindi]

Virus Full Form In Hindi – आप लोगो ने अक्सर इसका नाम जरूर सुना होगा कि उनके computer में virus आ गया है और उनका सारा data corrupt हो गया है। लेकिन ये virus आपके computer के लिए कितने नुकसानदायक हो सकते है। अभी पिछले ही दिनों एक computer virus ने computers जगत में बहुत आतंक मचा रखा था जिसका नाम Ransomware था।

इस virus की वजह से बहुत से लोगो को नुकसान हुआ है। अगर यह virus किसी के computer में आ जाता था तो यह उस computer में मौजूद सभी प्रकार के data को के encrypted कर देता था और hackers उस data को वापिस restore करने के लिए पैसों की demand करते थे, जो कि bitcoin में था। इस virus से data को सही करने का कोई तरीका नही था जिसकी वजह से कई लोगो ने अपने data को वापिस पाने के लिए काफी पैसे भी दिए थे।

आज जमाना बहुत तेज़ी से बदल रहा है और इस तेज़ी से बदलते समय मे technology अपनी अहम भूमिका निभा रही है। आज के समय मे सभी के हाथों में मोबाइल और सभी के घर में एक computer तो ज़रूर होता है। और आज hackers भी तरह तरह के virus को बना रहे है और लोगो को इसके जरिए अपना शिकार बना रहे है।

यदि आप आज के समय मे mobile use करते है तो आपको हमेशा सावधान रहना चाहिए कि कही आप गलती से कोई virus वाला software न install कर ले जिससे कि hackers आपके mobile का पूरा data चोरी कर ले और उसकी मदद से आपको नुकसान पहुँचाए।

तो चलिए अब विस्तार से virus के बारे में जान लेते है। कि virus क्या होता है और इससे आप कैसे अपने computer और mobile को सुरक्षित रख सकते है।

Virus क्या है।

virus full form

Computer virus भी एक तरह का computer program code ही होते है जिसको computers को नुकसान और उसमे मौजूद data को delete करने या खराब करने के लिए use किया जाता है। हालांकि ऐसे कामो के पीछे हमेशा ही कुछ गलत विचार वाले लोगो का ही हाथ होता है। जो कि किसी का भला नही चाहते है। और हमेशा लोगो को नुकसान पहुँचाने की ही सोचते है।

एक computer को सही से चलाने के लिए उसमे बहुत से प्रकार के software की जरूरत होती है जिसमे से एक सबसे important software होता है OS (operating system). Operating system के बिना कोई भी computer start नही हो सकता और उसको आप उपयोग भी नही कर सकते है। और अगर ऐसे में कोई virus आपके computer के OS में घुस जाए तो उसको बाहर निकाल पाना बहुत मुश्किल होता है। और यदि आप निकलने में सफल भी हो जाते है तो आपका OS सही से कार्य नही करता है। क्योंकि virus की वजह से वो damage हो चुका होता है। ऐसे में आपको फिर से OS के software को install करना पड़ता है जिसके लिए कई बार अधिक पैसा भी देना पड़ जाता है।

Virus का Full Form क्या होता है?

Virus का Full Form “Vital Information Resources Under Seize” होता है।

Virus सबसे पहले कब detect किया गया था इसका इतिहास

Virus का Full Form तो आप जान गए चलिए इसके बारे मे और भी रोचक तथ्य को जानते है बात दे कि सन 1971 में Robert Thomas ने सबसे पहले malware code को बनाया था। इस virus का नाम creeper virus रखा गया था। यह एक experiment था जो कि Thomas ने ARPANET के mainframe को infect करने के लिए किया था। और इस virus से infect होने के बाद screen पर I’M creeper message show करता था।

पूरी history में जिस computer virus को पहली बार detect किया गया, वो था elk cloner. इस elk cloner ने सबसे पहले apple 2 operating system को infect किया था और वो भी floppy disk की मदद से तथा इस virus को Richard skrenta ने सन 1982 में बनाया था।

Virus कितने प्रकार के हो सकते है और कौन से कुछ बहुत Popular virus है।

  • Ransomware – यह virus बहुत ही dangerous virus है। इस virus की वजह से 2018 में बहुत से computers affected हुए थे। अगर Ransomware virus आपके computer में आ जाता है तो यह आपके computer में मौजूद पूरे data को एक code के जरिए encrypted कर देता है उसके बाद आप computer में मौजूद data को कभी भी access नही कर पाते है जब तक कि आपके पास data को decrypt करने का code न हो। और इस को किसी भी antivirus के द्वारा remove भी नही किया जा सकता है। अंत मे आपके पास computer को format करने के अलावा कोई और solution नही रह जाता है।
  • Trojan – यह virus भी ransomware की तरह ही खतरनाक है। लेकिन Trojan आपके computer में मौजूद data को encrypt नही करता है बल्कि आपके computer में मौजूद चीज़ों की जानकारी hackers तक पहुँचता है। जिससे कि hackers को आप जो भी अपने computer में करते है उसकी जानकारी मिलती रहती है। ऐसे में यदि आपके computer में कोई Trojan virus है और आप किसी site पर जाकर अपने bank card की details भरते है तो hackers को इसकी जानकारी हो जाती है और ऐसे में वो लोग आपका पैसा भी चुरा सकते है।
  • Boot sector virus – इस तरह म virus master boot को effect करते है जिनको निकाल पाना न के बराबर होता है। और इसको निकलने के लिए आपको अपना computer format करना पड़ता है। इसको फैलाने के लिए अक्सर pen drive या other removal media का सहारा लिया जाता है।
  • Worms virus – worms भी एक प्रकार के virus ही होते है जो कि खुद का duplicate यानी कि खुद को multiply करते जाते है। जैसे कि आपके computer में यदि किसी नाम से कोई folder है तो उसी नाम के कई और folder खुद बनते जाते है। यह virus removal media के द्वारा बहुत अधिक फैलते है। और यदि worm virus infected computer से किसी प्रकार के data को अन्य computer में copy करते है है तो वह computer भी infect हो जाता है। यह computed को बहुत ही ज्यादा slow कर देता है।
  • Rootkit virus – यह एक प्रकार का malware होता है जो कि आपके computer में चुपके से rootkit को install कर देता है और hackers के लिए आपके device तक पहुचने का एक रास्ता बना देता है। एक बार अगर किसी computer में यह virus install हो जाये तो hackers computer को remotely access कर सकते है। और किसी भी प्रकार की आपके computer data की modification कर सकते है या data को delete भी कर सकते है।

Virus से बचने के लिए क्या करे।

  • अगर आपको अपना computer virus proof रखना है तो आपको अपने computer में एक अच्छा सा anti virus रखना चाहिए। वैसे आज के समय मे windows defender नाम का antivirus ज़रूर आपको free में देता है जो कि बहुत अच्छा है लेकिन आप चाहे तो Norton या avast antivirus को अपने computer में रख सकते है।
  • आपको हमेशा genuine software ही install करना चाहिए। यदि आप crack software का इस्तेमाल करते है तो हो सकता है उनमें virus हो जो कि आपके computer को नुकसान पंहुचा सकता है।
  • हमेशा computer में किसी भी प्रकार के नए software को install करते वक़्त अपने computer में मौजूद anti virus को बंद न करे।
  • किसी भी malicious website से कोई भी file के download न करे।
  • Pen drive के जरिए भी virus का संचार किया जाता है तो जब भी आप किसी pen drive को computer में लगाए। उसको एक बार scan ज़रूर कर ले।
  • हालांकि virus को CD, DVD के जरिए भी फैलाया जाता है। तो आप ऐसे किसी भी CD या DVD से data को copy न करे।
  • सबसे अधिक virus pirated software और movies websites के द्वारा फैलाया जाता है। तो आप कभी भी pirated movies या software वाली website से कुछ भी download न करे।
  • Virus को फैलाने का एक और सबसे प्रचलित तरीका है वैसे तो google ऐसे mails को scan करके पहले ही अलग कर देता है। लेकिन कई बार ऐसे emails आपके पास भी आ जाते है जिनमे virus होते है। तो आप हमेशा उन्ही mails के attachments को download करे जिनको आप जानते है या जिसके बारे में आपको जानकारी हो।

कैसे पता चलता है कि computer system में virus आ गया है।

  • आपका computer बहुत ही slow work करने लग जाता है।
  • कई बार खुद ही कोई software run होने लग जाता है या फिर कुछ भी program install होने लग जाना।
  • computer में बार बार pop ups खुलना।
  • बिना किसी इस्तेमाल के computer resources का अधिक इस्तेमाल होने।

Tips

आप ने इस पोस्ट के जरिए जाना कि virus क्या है और इसका Full Form क्या होता है तथा इससे अपने computer और खुद को कैसे आप सुरक्षित रख सकते है।

आज के समय मे virus के द्वारा computer और mobile पर बहुत attack होने लग गए है। hackers अक्सर ऐसे लोगो को अपना शिकार बनते है जिन को computer और internet के बारे में अधिक जानकारी नही होती है। वो लोग अक्सर virus को किसी software के द्वारा या email के द्वारा आपके computer या mobile में डालते है जिसका आपको पता भी नही चलता है।

इसीलिए आपको कभी भी crack software का इस्तेमाल नही करना चाहिए। क्योंकि ऐसे ही software में virus होने के chances अधिक होते है। हमेशा किसी भी software को उसके official website से ही download करे। और यदि android mobile का इस्तेमाल आप करते है तो आपको software play store से ही download करना चाहिए।

तो दोस्तों आपको यह जानकारी कैसी लगी आप हमें comment करके अपनी राय ज़रूर दे और इस post को अधिक लोगो के साथ साथ अपने friends और family members को भी share करे ताकि उनको भी virus के बारे में जानकारी हो सके और वो लोग खुद को और अपने device को सुरक्षित रख सके।

Read More

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here