UPSC क्या है? – यू.पी.एस.सी. का Full Form क्या होता है।

UPSC क्या है? यूपीएससी का Full Form क्या होता है? UPSC एक ऐसी परीक्षा प्रणाली है जिसके द्वारा आप अच्छी सरकारी नौकरी प्राप्त कर सकते है। आज हमारे देश मे बहुत से युवा ऐसे है, जो कि सरकारी नौकरी करना चाहते है। उनका सरकारी नौकरी करने के पीछे यही मकसद होता है कि अपने भविष्य को एक अच्छी नौकरी से secure कर लेना। ताकि जीवन मे फिर कभी किसी दूसरी नौकरी के बारे में न सोचना पड़े।

यदि आप UP या बिहार में रहते है या वहाँ के लोगो के बारे में जानते होंगे कि बिहार में सरकारी नौकरी करने वाले को कितना महत्व दिया जाता है। आज के दौर में सरकारी नौकरी को पाना इतना आसान भी नही है। आज competition बहुत बढ़ गया है. खाश कर यदि आप बिहार में है तो, क्योंकि वहाँ के अधिकतर व्यक्ति केवल सरकारी नौकरी के बारे में ही सोचते है और UPSC जैसे exam को clear करने के लिए सालों साल तैयारी करते रहते है।

आज हमारे देश मे maximum IAS और IPS जैसे अधिकारी बिहार से ही है। लेकिन आज के समय मे भी बहुत से बच्चों को UPSC की तैयारी कैसे करना है उसके बारे में सही और पूर्ण जानकारी नही है। जिसकी वजह से सालों साल मेहनत करने के बाद भी कुछ लोग UPSC का exam नही निकाल पाते है। जिसकी वजह से कई बार वो निराश भी हो जाते है।

लेकिन यदि आप भी उन लोगो मे से है जो UPSC के exam की तैयारी कर रहे है। और आपको इसके बारे में पूर्ण जानकारी नही है कि कैसे exam की तैयारी करे, और UPSC के लिए आपके पास क्या qualifications होनी चाहिए। तो इस post को ध्यान से और पूरा पढ़े। ताकि आपको सही जानकारी प्राप्त हो सके।

UPSC क्या है। UPSC का Full Form क्या होता है।

what is the full form of upsc

UPSC का full form “Union Public Service Commission” होता है। जिसे हिन्दी मे “संघ लोक सेवा आयोग” कहते है। इसकी स्थापना 1 अक्टूबर 1926 में हुई थी. आज UPSC एक सम्मानित संस्था है। जो कि देश भर में सिविल सेवा परीक्षा, CDS, NDA, IFS जैसे परीक्षाएं कराता है। यदि आप civil duty करना चाहते है तो आपको UPSC की तैयारी ज़रूर करनी होगी है. क्योंकि यदि IPS या IAS बनना आपका सपना है तो उसके लिए यही एक रास्ता है।

लेकिन केवल UPSC की परीक्षा पास करने से ही काम नही होगा। आपको IPS, IAS बनने के लिए UPSC के अलावा कुछ और भी EXAM देने होते है। एक सर्वे के अनुसार UPSC के exam के लिए प्रति वर्ष लाखों बच्चे परीक्षा देते है। जिसमे से केवल कुछ ही आगे के लिए select हो पाते है। और उनमे से भी कुछ को ही उनके मेरिट और performance के base पर जॉब मिल पाती है।

इसका कारण limited jobs का होना है। जिसके कारण बहुत से ऐसे बच्चे भी जॉब प्राप्त नही कर पाते है जो कि deserving होते है। तो यदि आपका इरादा मजबूत है और आप अपने मन मे ठान चुके है कि कैसे भी करके UPSC EXAM को crack करना है तो आपको आगे बढ़ना चाहिए और आपको सफलता भी ज़रूर मिलेगी। लेकिन यदि आप अन्य दूसरे रास्तों के बारे में भी सोच रहे है तो यहाँ आपका मनोबल टूट सकता है और आप एक या दो बार fail होने के बाद ही उम्मीद छोड़ देंगे।

UPSC के History के बारे में जानकारी।

UPSC का गठन अंग्रेज़ों के शासन के दौरान ही सन 1924 में हुआ था। और उस समय इस संस्था में भारत और ब्रिटिश के बराबर लोग थे। लेकिन lee commission ने यह प्रस्ताव दिया कि भविष्य में इसमे प्रवेश पाने के लिए ब्रिटिश के 40 percent और भारत के 40 percent लोग होंगे तथा 20 percent भारतीय में से promote किये जायेंगे।

इसके बाद भारत सरकार अधिनियम 1935 के तहत union public service commission की स्थापना हुई जो कि इसी का नाम बदल के रखा गया था, और बाद में इसमें और भी अन्य प्रकार की civil सेवाओं को भी शामिल किया गया। ऐसे ही आगे चलकर आज़ादी से बाद 26 जनवरी 1950 में संविधान में भी शामिल कर लिया गया और इसे लीगल मान्यता पर्याप्त हो गयी।

UPSC की परीक्षा देने के लिए minimum qualification क्या है।

वैसे तो UPSC में कई प्रकार के exams होते है और सभी exams के लिए अलग अलग प्रकार की educational qualifications की जरूरत होती है। लेकिन ऐसे बहुत से exam ऐसे भी है। जिनका फार्म आप 12th के बाद ही भर सकते है और उसका exam दे सकते है। लेकिन कुछ ऐसे भी posts की परीक्षाएं है. जिसको देने के लिए आपके पास minimum graduation की degree होनी आवश्यक है। तभी आप उनके form को भर सकते है।

यदि आप civil service के लिए परीक्षा दे रहे है तो आपको आवेदन के दौरान अपनी graduation में प्राप्त किए गए marks को भी fill करना होगा. और institute या university का नाम भी भरना होगा। और यदि आप मेडिकल के स्टूडेंट है तो उनको अपनी MBBS की डिग्री भी दिखानी होगी। तभी वो आवेदन कर सकते है। और यदि आपके पास कोई technical डिग्री है तब भी आप आवेदन कर सकते है। लेकिन आपको भी उसके लिए अपनी डिग्री को दिखाना होगा।

UPSC की परीक्षा के लिए कैसे तैयारी करें।

UPSC के परीक्षा की तैयारी कैसे करे यह प्रश्न आज के समय से बहुत से बच्चों के द्वारा पूछा जाता है। क्योंकि आज के समय मे इतनी सारी books हो गयी है कि बहुत से बच्चे confused हो जाते है कि क्या पढ़े और क्या न पढ़े। तो चलिए आपको उसके बारे में जानकारी देते है।

आपको हमेशा जिस चीज़ का फॉर्म भरा गया है उसके अनुसार अपनी पढ़ाई करनी चाहिए। UPSC के first फेज में main दो components होते है।

  1. General studies
  2. Civil service aptitude test

General studies

इसमें आपसे Indian polity, Indian economy, history, basic science, technology, environment, international relations से जुड़े सवाल पूछे जाएंगे।

Civil service aptitude test

इसमें सबसे पहले आपसे reasoning, Aptitude और Analytics से related questions पूछे जाते है। ताकि आपकी डिसीजन मेकिंग पावर को परखा जा सके।

अगर मोटे तौर पर देखा जाए तो इसमें पहले दौर में दो exams होते है जो कि हर एक 200 numbers का होता है। और आपको दोनों में ही 2 hours का time दिया जाता है। ताकि आप अपनी परीक्षा को सही ढंग से पूरा कर पाए। और यदि आपको mains की परीक्षा में बैठना है तो आपको यह clear करना होगा। तभी आप आगे जा सकते है।

CSAT के EXAM में आपसे 80 questions पूछे जाते है। जो कि 200 numbers का test होता है। जिसमे प्रत्येक सही answer पर आपको 2.5 नंबर दिए जाते है वही अगर आपका कोई answer यदि गलत हो जाता है तो 0.83 numbers काट भी लिए जाते है। और यदि आपको किसी question का जबाब मालूम नही है और आप उस question को छोड़ देते है।

तो ऐसे में आपका कोई अंक नही कटेगा। तो यदि अब आप कभी भी UPSC का exam दे तो जब तक आप answer के बारे में सही न हो, तब तक उसका उत्तर न दे। नही तो गलत उतर होने पर आपके marks काट लिए जाएंगे।

UPSC की परीक्षा के लिए अधिकतम आयु तय सीमा।

यदि आपको UPSC का EXAM देना है तो आपकी उम्र कम से कम 21 साल या उससे अधिक की होनी चाहिए तभी आप इस प्रकार की परीक्षा को दे पाएंगे। तो चलिए सभी लोगो की अधिकतम सीमा के बारे में भी जान लेते है।

  • यदि आप general है तो आप की अधिकतम उम्र सीमा 32 साल की है और आप 6 बार ही exam को attend कर सकते है।
  • पिछड़ी जाति वालो के लिए अधिकतम तय उम्र सीमा 35 साल है और ये लोग 9 बार exam को attend कर सकते है।
  • SC और ST के लिए अधिकतम उम्र तय सीमा 37 साल है और इनके के लिए Exam देने की कोई limit नही है।
  • आर्थिक रूप से कमजोर लोगो के लिए भी अधिकतम उम्र तय सीमा 32 साल है और ये भी केवल 6 बार ही exam दे सकते है।
  • विकलांग लोगो के लिए अधिकतम उम्र तय सीमा 42 साल है और ये 9 बार exam दे सकते है। लेकिन यदि SC या ST है तो कोई limit नही है।

Tips

इस post के माध्यम से आप ने जाना कि UPSC क्या है इसका Full Form (UPSC Full Form In Hindi) और कैसे आप इसके लिए सही तरीके से तैयारी कर सकते है। आज बहुत से students खुद को एक अच्छी नौकरी करते हुए देखना चाहते है तो वैसे लोगो के लिए UPSC का exam देना एक बेहतरीन मौका होता है। इसके माध्यम से वो लोग किसी भी प्रकार की सिविल नौकरी कर सकते है और देश की सेवा में अपना योगदान भी दे सकते है।

लेकिन यदि कोई भी व्यक्ति UPSC जैसे exam को crack करना चाहता है तो उसके लिए आपको बहुत मेहनत करनी होगी। क्योंकि UPSC को crack करना सभी के बस की बात नही होती है। इसके लिए आपको बहुत सारी पढ़ाई करनी पड़ती है और खुद को एक discipline में रखना होता है।

लेकिन इसके साथ साथ आपको syllabus का भी ध्यान रखना होगा है। ताकि आप कही गलत चीज़ों की तैयारी न कर ले और जिस चीज़ से related आपको exam में question पूछे जाएंगे वो रह जाए। तो इसके लिए हमने आपको ऊपर जानकारी दी कि आपको क्या क्या पढ़ना चाहिए। उसके साथ साथ आपको यह ध्यान रखना है कि आपकी qualifications भी requirements के हिसाब से हो। और आपकी आयु भी सही हो ताकि आपका फार्म किसी भी कारण से reject न हो जाए।

तो दोस्तों आपको यह जानकारी कैसी लगी comment करके ज़रूर बताएं। और इस जानकारी को अपने दोस्तों और family members के साथ ज़रूर शेयर करे. ताकि यदि किसी को UPSC के बारे में उचित जानकारी न हो तो उसे भी जानकारी प्राप्त हो सके।

Join Our Telegram Channel

Read More

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here