UPI Full Form In Hindi – यूपीआई फुल फॉर्म क्या होता है?

UPI Full Form In Hindi – ये तो हम सभी जानते हैं कि आज का समय Digital Technology पर Based है। हर व्यक्ति के पास आज के समय में Mobile है एवं इन्टरनेट आज के समय में सभी Use करते है। इन्टरनेट, मोबाइल और लैपटॉप या कंप्यूटर ये सभी व्यक्ति रोजाना प्रयोग करने लगा है। आज हम लोग यहाँ UPI की बात करने जा रहे हैं। तो UPI का सीधा सम्बन्ध Money Transfer और Bank से है।

आज के समय में लोग बैंक खातों और बैंक के कार्यों से बहुत ज्यादा जागरूक हो गए हैं। लेकिन बैंक में जाने के लिए लोगों के पास समय की कमी होती है और उसी समय की बचत करने के लिए अब UPI, Google Pay एवं Paytm जैसी Application को बहुत ज्यादा अधिक प्रयोग किया जाता है। लेकिन लोगों में इनके बारे में जागरूकता थोड़ी सी कम है तो आज हम यहाँ UPI और UPI के Full Form के बारे मे पूरी जानकारी देंगे। के बारे में पूर्ण जानकारी देंगे।

UPI क्या है UPI का Full Form क्या होता है?

upi full form in hindi

UPI का पूरा नाम यानि Full Form “Unified Payments Interface” है। UPI एक Application होती है जो हर Android फ़ोन में Google प्ले के द्वारा Install की जा सकती है। इसका सीधा सम्बन्ध बैंक और पैसे के आदान प्रदान से होता है। अधिकतर बैंक के साथ इसकी Facility उपलब्ध होती है और इसके लिए कई चीज़ें जरुरी होती हैं जैसे फ़ोन नंबर, अकाउंट नंबर, पिन इत्यादि। आपका जिस भी बैंक का अकाउंट है आप उसके Account Number के द्वारा Google Play से UPI के द्वारा पैसों का आदान प्रदान कर सकते हैं।

इससे आपको पैसे के आदान प्रदान के लिए एक Virtually ID मिल जाता है जिससे आप किसी को Online पैसे ट्रान्सफर भी कर सकते हैं और किसी से Online पैसे भी ले सकते हैं। आप खुद कोई भी ID Generate कर सकते हैं ये कुछ भी हो सकता है आपका फ़ोन नंबर, आधार कार्ड या फिर ईमेल आईडी जैसा भी हो सकता है। उदहारण के लिए xyz@sbi ।

यहाँ जब आप UPI Install करते हैं तो उसके बाद आपसे कुछ Questions Form में पूछे जाते हैं जिनके आपको Answer आपके अनुसार देने होते हैं। और जब आपका Virtual ID बन जाता है तो आप इसके बाद पैसों का आदान-प्रदान कर सकते हैं। UPI को Virtual Payment Address (VPA) भी कहा जाता है।

UPI कैसे कार्य करता है?

UPI का Full Form तो आप जान गए चलिए इसके कार्य प्रणाली को जानते है इसकी पहल हुई थी NPCI की ओर से। NPCI का पूरा नाम “National Payments Corporation of India” है। यह वो संस्था होती है जो सभी Banks और उनके ATM को Manage करती हैं। सभी Banks के Inter bank Transaction को Manage करता है। वैसे ही UPI Online पैसे Transfer के लिए प्रयोग किया जाता है। UPI, यह Immediate Payment Service System पर आधारित होता है। इसका उपयोग सभी बैंक Application के साथ किया जा सकता है। यह Cashless Transaction होता है।

UPI तब भी कार्य करता है जब बैंक बंद हो या बैंक का अवकाश हो। उदहारण के लिए मान लीजिये आपके किसी दोस्त या रिश्तेदार को पैसों की जरुरत है लेकिन आप उसे पैसे देने जाने के लिए समर्थ नहीं हैं तो आप Online Payment Mode का इस्तेमाल कर सकते हैं। लेकिन इसमें भी आपको पैसे ट्रान्सफर करने में काफी समय लग जाता है जैसे आपको अपने Bank Account में किसी का भी Account Add करना होगा इसके बाद ही पैसे ट्रान्सफर होंगे लेकिन UPI से आप बहुत ही जल्दी बल्कि तुरंत ही पैसे ट्रान्सफर कर सकते हैं। इसके लिए आपको बस एक ही बार Login करना होता है। यह बहुत ही Fast Money Transfer Mode है। इस प्रकार से UPI कार्य करता है।

UPI को USE करने का तरीका

UPI या किसी भी Application को उपयोग करने के लिए आपके पास Smartphone या Android Phone होने बहुत आवश्यक है और इसी के साथ आपकी SIM में Internet Data होना भी बहुत जरुरी है। तभी आप किसी भी Application को Install करके उसे उपयोग कर सकते हैं। आज के समय में हम देख सकते हैं कि बैंक के बहुत सारे Application होते हैं जैसे नेट बैंकिंग, मोबाइल बैंकिंग, Google Pay, Phonepe इत्यादि ये सभी Application अब UPI को Support करते हैं।

आपका जिस भी बैंक का अकाउंट हो आप उसकी Application को Google Play से Install कर लीजिये और इसके बाद आपसे उस Application में Sign In करने के लिए जो भी Information माँगी हो उसे Fill कर दीजिये। जब आप ये सारी Information Fill कर देंगे तब इसके बाद आपको एक Virtual ID मिल जायेगा। इस Virtual ID के द्वारा आप किसी से Payment Accept भी कर सकते हैं और आप किसी को Payment भी कर सकते हैं। UPI की सबसे बड़ी खासियत यह है कि आपको इसके द्वारा किसी से पैसे लेने या देने में बहुत कम समय लगता है।

नेट बैंकिंग, Phonepe, Google Pay और UPI इत्यादि जितनी भी सारी Application हैं वे सभी एक ही System पर कार्य करती हैं। अब सवाल ये आता है कि जब सभी Application एक जैसी ही हैं तो UPI में इनसे अलग क्या है। तो अगर आप UPI का प्रयोग करते हैं तो आपको पैसे लेने या देने के लिए किसी तरह की अलग से information नहीं डालना होगी जैसे अकाउंट नंबर, IFSC Code इत्यादि। और कम समय में आप पैसे ट्रान्सफर करने में सक्षम होंगे।

UPI में Money Transfer की Limit

ये सवाल कई लोगों के मन में आता है कि UPI से Money Transfer करने की कोई Limit है या नहीं। तो जी हाँ हर Online Money Transfer की Limit होती हैं। वैसे ही UPI में भी Money Transfer की Limit है। UPI के द्वारा आप अधिकतम 1 लाख रूपये तक भेज सकते हैं और अगर आपको इससे ज्यादा पैसे भेजना है तो आपको इसके लिए Fee लगती है। यह Instant Money Transfer Mode है। तो आप इनका फायदा ले सकते हैं। UPI और भी सभी Online Money Transfer Mode की सीमा तय की गई है।

UPI को Support करने वाले Bank

  • State Bank of India (SBI)
  • Kotak Mahindra Bank
  • ICICI Bank
  • HDFC Bank
  • Andhra Bank
  • Axis Bank
  • Canara Bank
  • Bank of Maharashtra
  • Catholic Syrian Bank
  • DCB
  • Federal Bank
  • Karnatka Bank KBL
  • Punjab National Bank
  • South Indian Bank
  • United Bank of India
  • UCO Bank
  • Vijiya Bank
  • OBC
  • TJSB
  • IDBI Bank
  • RBL Bank
  • IDFC
  • Standard Chartered Bank
  • Allahabad Bank
  • HSBC
  • Bank of Baroda
  • IndusInd etc.

ये सभी बैंक UPI को support करती हैं।

UPI PIN क्या है?

UPI PIN का महत्व UPI में वैसा ही है जैसे Internet बैंकिंग में पासवर्ड का। UPI PIN को हम पासवर्ड ही कहेंगे क्योंकि जब भी आप UPI को Payment के लिए उपयोग करते हैं तो आपको उसके लिए PIN की जरुरत पड़ती है। Security के लिए हर बार आपको UPI Open करते समय PIN डालने की जरुरत पड़ती ही है।

UPI के फायदे

  • UPI के अनगिनत फायदे हैं। जब भी आपको किसी को तुरंत पैसे ट्रान्सफर करने हों आप UPI की सहायता से कर सकते हैं।
  • UPI Service 24*7 और 365 दिन चालू रहती है।
  • इससे आप तुरंत ही पैसे ट्रान्सफर कर सकते हैं।
  • इसे आप Single Click 2 Factor Authentication की सहायता से आप अपने UPI Account को सुरक्षित रख सकते हैं।
  • इसमें आपको पैसे ट्रान्सफर करने के लिए IFSC Code, Account Number या फिर Card Number जैसी किसी भी डिटेल जरुरत नहीं होती। यहाँ आपको Virtual Payment Address की आवश्यकता होती है जैसे xyz@sbi इत्यादि।
  • आप किसी को पैसे ट्रान्सफर करने से लेकर बिजली का बिल, फ़ोन रिचार्ज, टीवी रिचार्ज जैसे कार्यों के लिए भी UPI का सहारा ले सकते हैं।
  • इसके Transaction Charge बहुत ही कम हैं।
  • इसका प्रयोग Merchant द्वारा भी किया जाता है उनके सामान को बेचने के लिए।
  • इसके द्वारा लिया या दिया गया पैसा सीधा Bank Account में Reflect होता है।
  • यह Application पैसे के लेन देन दोनों के लिए ही उपयोग होती है।
  • भारत सरकार के द्वारा BHIM UPI को Launch किया गया है।

भारत सरकार ने BHIM UPI को क्यों Launch किया?

आज के समय में लोगों के पास समय की बहुत कमी है और पूरा विश्व ही Digital Technology को अपना रहा है। और इसी तरह भारत भी इस ओर अग्रसर हो रहा है। उसी का एक हिस्सा है BHIM UPI। इसे लांच करने के पीछे भारत सरकार की मंशा यही है कि Case less Transaction को बढ़ावा मिल सके। इससे यह Data भी आसानी से निकाला जा सकता है कि कौन व्यक्ति साल में कितना Transaction कर रहा है।

UPI Account बनाने का तरीका

UPI अकाउंट बनाना और इसको Use करना बहुत आसान होता है। UPI Account बनाने के लिए आप नीचे दी गई Steps को Follow कर सकते हैं.

Step One: UPI App Install

सबसे पहले आप Google Play पर जाकर UPI Application को Install कर लीजिये जैसे BHIM UPI।

Step Second: Create Profile

Install करने के बाद आप UPI App पर अपनी Profile Create कीजिये और उसमें पूछे गई Information को भरिये जैसे Phone Number, Aadhar Number इत्यादि। एवं इसे Verify करिए।

Step Third: Add Your Account

Profile Create करने के बाद आप अपने Account को Add करिए। इसके लिए आपको Add Account के Option में जाना होगा। और वहाँ जाकर आपको अपने खाते को जोड़ना होगा।

Step Four: Set Virtual ID

Account Add करने के बाद मुख्य मेन्यु में जाकर आपको Virtual ID के Option पर जाकर Virtual ID सेट करना होता है।

Step Five: Set PIN

Virtual ID Set करने के बाद आपको PIN Set करना होता है। PIN के बाद आपको M-PIN Generate करने के लिए डेबिट कार्ड (ATM) की Details डालना होती हैं।

Step Six: Successful Pin Generate

Pin Generate होते ही Pin Created Successfully का मेसेज आपके मोबाइल पर आ जायेगा।

जब आप UPI Application में रजिस्टर करते हो तब आपको उसके द्वारा पूछी गई जानकारी भरनी होती है। UPI की सभी Application में आप Step by Step पूछी गई Information भरते जाइये आपका UPI Account बन जायेगा।

UPI PIN रिसेट करने का तरीका

 कभी –कभी ऐसा होता है कि हम अपना पासवर्ड या PIN भूल जाते हैं तो इसमें आप बिल्कुल भी परेशान न हों। अगर आप अपने UPI का PIN भूल गए हैं तो वह रिसेट हो जायेगा। और आप इसे बदल भी सकते हैं।

Select Bank Account

सबसे पहले आपकों UPI Application को Open करना है और फिर Bank Account Option पर जाएँ और बैंक खाते को सेलेक्ट करें।

Click On Reset Pin

इसके बाद अप्पके सामने Reset Pin का Option आएगा आप उस पर क्लिक करें।

Enter ATM Details

जैसे ही आप Reset Pin करेंगे आपके सामने 2 Option आयेंगे। ATM के अंतिम 6 नंबरों को दर्ज करें या फिर ATM की तारीख दर्ज करें।

Account Confirmation

ATM Details डालने के बाद आपको Account Confirmation पर Click करना है इसके बाद आपके फ़ोन नंबर पर एक OTP आएगा। उस OTP को आपको दी हुई जगह पर दर्ज करना होगा।

Enter New Pin

अब आपके पास एक Option आएगा जिसमें आपको New Pin Enter करना होगा। इसमें आपको 2 बार Pin Confirm करने का Option आएगा तो आप 2 बार PIN डालें और फिर Submit पर क्लिक करें।

Tips

आज की Digital दुनिया में लोग Cashless Transaction के लिए कई Application की सहायता लेते हैं। उन्हीं में से एक है UPI जो एक बहुत Secure Application है और बहुत Fast भी। आज के समय में हर व्यक्ति Smartphone उपयोग कर रहा है। और इसके साथ ही सभी Telecom Companies अपने ग्राहकों को कम पैसों में अच्छा इन्टरनेट डाटा Provide कर रही हैं। तो आधी चिंता तो यही समाप्त हो जाती है।

अब बस आपको UPI को प्रयोग करना आना चाहिए। जब आप एक बार Online Transaction प्रारंभ कर देते हैं तो यकीन मानिये आपको इससे ज्यादा सुरक्षित और समय बचने वाला तरीका कोई और नहीं लगेगा। सबसे बड़ी बात आप कम Transaction Fee के साथ UPI का प्रयोग कर सकते हैं।

न आपको यहाँ IFSC Code डालना है न ही 24 घंटे का इंतज़ार करना है कि कब बैंक की तरफ से अन्य का अकाउंट Approve होगा। आपको सब आपके ही अनुसार करना है।

I Hope की आपको UPI क्या है? इसका Full Form क्या होता है (Full Form Of UPI) आदि छीजे पता चल गई होंगी, अगर आपको ये जानकारी पसंद आई है तो इसे अपने दोस्तों के साथ सोशल मीडिया पर शेयर करना ना भूले!

नमस्ते, मेरा नाम Samir है मै HFT का Co-Author & Founder हु मुझे हमेशा से नयी चीजे सिखने तथा उन्हे लोगो के साथ शेयर करना पसंद है. क्योकि मैं भी आपकी तरह ही हु. अगर आपको हमारा काम पसंद आता है तो हमे सोशल साईट पर फॉलो कर सकते है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here