UFO Full Form In Hindi – यूएफओ का फुल फॉर्म क्या होता है!

UFO Full Form In Hindi – UFO का नाम सुनते ही हमारे दिमाग मे Aliens का ख्याल आने लगता है। लेकिन दोस्तो यह सच भी है। क्योकि कई सालों से ऐसे दावे किए जाते रहे है कि aliens मौजूद है और वे समय-समय पर हमारे पृथ्वी पर आते भी रहते है। लेकिन हम उन लोगो को इसलिए नही पहचान पाते या देख पाते है क्योंकि उनकी Technology हमारी Technology से काफी advance है।

लेकिन UFO को alien से जोड़ना सही भी है और गलत भी, क्योंकि हमे अभी तक ऐसा कुछ भी नही मिला है जिसके बल पर हम कह सके कि aliens होते है और वह हमारे पृथ्वी पर भी आते है। लेकिन वही दूसरी ओर कुछ ऐसे भी दावे है जो कि मन मे सक भी पैदा करते है कि aliens का वजूद है। UFO को कई बार उड़ते हुए देखे जाने की तस्वीर internet पर viral है और कई बार सरकारों ने भी इस दावे पर अपनी मोहर लगाई है। लेकिन वही इसको पूरी तरह से मानने से इनकार भी कर देते है।

UFO का नाम आते ही सबसे पहले अमेरिका पर इन चीज़ों को छुपाने का इल्जाम आता है। क्योंकि बहुत से लोगो का दावा है कि अमेरिकी सरकार हमेशा से भी UFO से जुड़ी जानकारियों को छुपाती रही है। और दुनिया से छुपकर UFO और aliens से जुड़ी चीज़ों पर research कर रही है। यहाँ तक कि कुछ देशों का ऐसा भी मानना है UFO और Aliens से जुड़ी बहुत सी जानकारियाँ USA सरकार के पास है। और वो लोग लगातार Aliens से संपर्क करने में लगे है।

तो चलिए अब UFO क्या है और इसका full form क्या होता है,UFO किसे कहा जाता है, और इस से जुड़े क्या तथ्य सही है। के बारे विस्तार से जान लेते है।

UFO Full Form In Hindi – यूएफओ का फुल फॉर्म क्या होता है!

what is the full form of ufo

UFO का Full Form “Unidentified Flying Object” होता है। जिसका मतलब यह होता है कि कोई भी ऐसी चीज़ जो हवा में उड़ रही हो और उसे इंसानो के द्वारा न बनाया गया हो तथा उसके बारे में सरकार को या air traffic controller को न मालूम हो। उसको unidentified flying object कहा जाता है। लेकिन लोग UFO को अक्सर केवल alien से ही जोड़ कर देखते है। क्योंकि सभी को ऐसा ही लगता है कि जो भी आसमान में unidentified flying objects उर रहा है वो alien का ही विमान हो सकता है।

लेकिन कुछ ऐसे चित्र है जो कि UFO के उड़ते समय खीचे गए है उन विमान का structure और बनावट हमारे aero plans से अलग है और वो लंबे होने की बजाय गोल है। जिस कारण हमेशा ही लोगो को यह शक होता है कि alien सही में है और वो रात के अंधेरे में आते है। परंतु इसके अभी तक कोई भी प्रमाण नही मिले है।

ऐसा भी माना जाता रहा है कि यह US Military के experiments है जो कि अक्सर लोगो को दिखाई दे जाते है। और उसको छुपाने के लिए US Military ने UFO की अफ़वाह फैला रखी है।

UFO किसको कहा जाता है।

जैसा कि आप ने ऊपर जाना कि UFO unidentified flying object को कहा जाता है। मतलब की ऐसे airplane जो कि identified नही है और इंसानों के द्वारा न बनाए गए हो तथा प्रकिर्तिक रूप से भी न बने हो। UFO जब से दिखाई देने लगे है तब से ही यह चर्चा के विषय बने हुए है और सभी देश की सरकारें इस पर बहश करती है तथा इसी को देखते हुए world UFO day की स्थापना की गई थी। ताकि सभी देश के researchers जोकि UFO से जुड़ी चीज़ों पर research कर रहे है वो एक मंच पर आकर इस पर चर्चा करे और aliens के सच के बारे में पता लगाएं। पहले world UFO day 24 जून और 2 जुलाई को मनाया जाता था लेकिन बाद में इसे आधिकारिक तौर पर अब 2 जुलाई को मनाया जाने लगा। इसके पीछे का मकसद है कि सभी देश अपनी जानकारी को एक दूसरे के साथ share करे।

UFO से जुड़ी History

हर साल आसमान में हमे कोई न कोई ऐसी आकृति देखी जाती है जो कि UFO के होने का सबूत हो, लेकिन जब उनकी जांच होती है तो कुछ तो उन में से झूठी निकलती है और कुछ का पता नही चल पाता है। UFO को देखे जाने की बाते 1950 के दशक से ही शुरू हो गयी थी जब कुछ अजीब से उड़ने वाले विमानों को दुनिया के कई देशों में देखा गया था। इसके बाद 1953 के समय मे USA के air force ने इसे UFO का नाम दिया ताकि इन objects का अलग recorde बनाकर रखा जा सके और इसके ऊपर research किया जा सके। जबकि इससे पहले 1940 के दशक में इनको flying disc कहा जाता था क्योंकि इनका shape गोल होता था जिस वजह से यह नाम पड़ गया था।

रूसवेल क्रैश आज तक का सबसे चर्चित case माना जाता है। यह घटना 1947 में अमेरिका के मैक्सिको के रूसवेल में हुई थी, जब एक balloon का crash हुआ था चूंकि इसका shape भी गोल था तो वहाँ रहने वाले लोगो ने माना कि यह क्रैश UFO का हुआ है। लेकिन जब US Military ने जगह पर जाकर उसकी जाँच की तो पता चला कि वह UFO नही बल्कि project mogul का हिस्सा है जो कि microphone और गुब्बारे के जरिए दुश्मन देश के atomic bomb को detect करता है।

UFO को लेकर USA का area 51 सबसे चर्चित जगह है। जिसके बारे में US हमेशा से छुपाता रहा है और यह कहता रहा है कि उनके पास ऐसी कोई भी गुप्त जगह नही ही। लेकिन लगातार इस पर सवाल उठते रहे है और उस जगह पर किसी को जाना भी allowed नही है तथा यदि कोई व्यक्ति area 51 में पकड़ा जाता है तो उसे मार दिया जाता है। लेकिन 2013 में USA ने यह स्वीकार लिया है जिसके कुछ दस्तावेज़ भी सार्वजनिक किए है  और कहा है कि area 51 उनका एक special testing area है जहाँ वो लोग UFO जैसी चीज़ों पर Testing करते है।

क्या Aliens की बाते सच्ची है।

यह दावे से तो नही कहा जा सकता है कि aliens से जुड़ी बातें सही है लेकिन यह चर्चा का विषय ज़रूर है। अगर हम वैज्ञानिक दृष्टिकोण से देखे, तो अभी तक हमे कोई भी ऐसा planet या सबूत अपने galaxy में नही मिला है जो कि aliens के होने का प्रमाण देता हो। लेकिन वैज्ञानिक aliens की खोज लगातार कर रहे है। हालांकि एक बार satellite से कही दूर galaxy से एक signal ज़रूर मिला था, जो कि बहुत कमजोर था और उसकी दिशा को detect कर पाना नाममुंकिन था। लेकिन scientist लगातार ब्रह्मांड में aliens की तलाश में लगे रहते है। और हो सकता है कि हम आने वाले समय मे किसी ऐसी alien सभ्यता को ढूंढ ले जो हम जैसे या हम से कुछ अलग हो। लेकिन अगर हम वैज्ञानिक दृष्टिकोण से देखे तो फिलहाल तो alien और इन से जुड़ी सभी बाते झूठ ही लगती है।

UFO से जुड़े कुछ तथ्य

  • सन 1940 से ही कई UFO को देखे जाने के दावे होते रहे है। मगर लोगो के सामने अभी तक उनका कोई भी result नही आया है।
  • कुछ लोग ऐसा भी मानते ही कि UFO की हर तीन मिनट में किसी नए ग्रह पर दृष्टि पड़ जाती है।
  • 1991 में एक रोपर पोल आयोजित किया गया था जिसमें से 40 लाख लोग यह कहते है कि उनको aliens ने अगवाह किया था।
  • एक UFO की सबसे पहली तस्वीर 1883 में मैक्सिको के खगोलीय वैज्ञानिक जोस बोनिला द्वारा ली गई थी
  • 1960 के दशक में NASA के अंतरिक्ष अभियानों के दौरान UFO को अक्सर देखा और उनके साथ फोटो खींचे जाते थे।
  • विंस्टन चर्चिल ने केंट, इंग्लैंड में 14 अक्टूबर, 1912 को एक अजीब हवाई पोत की सूचना दी। यह एक UFO के “आधिकारिक तौर पर” होने का पहला मामला था।

Tips

दोस्तों आप ने इस पोस्ट में जाना कि UFO क्या होते है इसका Full Form क्या होता है और इसके पीछे का क्या सच है। UFO से जुड़ी घटनाएँ क्या सही है। और क्या UFO या aliens सही में पृथ्वी पर आते है या नही।

दोस्तों अभी तक इस बात के दावे ही किए जाते रहे है कि aliens हमारे ग्रह पर आते है और हम से छुप कर उन्होंने यहाँ अपने ठिकाने बना रखे है। लेकिन अभी तक ऐसा कोई भी वैज्ञानिक प्रमाण नही मिल पाया है जिससे यह साबित हो सके कि सही मे Aliens अपने विमान से हमारे पृथ्वी पर आते है। मगर हाँ यह जरूर है कि कुछ ऐसे objects को आसमान में देखा गया है जिसका अभी तक पता नही चल पाया है।

लेकिन उनको aliens से जोड़ कर देखना सही नही है क्योंकि बहुत से देशो की सरकारों का यह दावा है कि us की military हमेशा ही ऐसे कुछ experiment करती रहती है जो कि लोगो की सोच से परे होते है और बात के खुलने के डर से वो लोग हमेशा UFO और Aliens का नाम ले देते है। ताकि लोगो का ध्यान भटकाया जा सके।

दोस्तों अगर आप को हमारी यह जानकारी अच्छी लगी  हो तो आप इसे अपने दोस्तों के साथ भी social media के माध्यम से share करे। और ताकि उनको भी UFO और इससे जुड़े चीज़ों के बारे में जानकारी हो सके।

Join our Telegram Channel

Read More

नमस्ते, मेरा नाम Samir है मै HFT का Co-Author & Founder हु मुझे हमेशा से नयी चीजे सिखने तथा उन्हे लोगो के साथ शेयर करना पसंद है. क्योकि मैं भी आपकी तरह ही हु. अगर आपको हमारा काम पसंद आता है तो हमे सोशल साईट पर फॉलो कर सकते है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here