SOS Full Form In Hindi – सॉस का फुल फॉर्म क्या होता है!

SOS Full Form In Hindi – SOS Code के बारे में बहुत ही कम लोग जानते है या केवल उन्हीं लोगों को पता होता है जो कि defense में रह चुके है या ऐसे ही किसी प्रकार के कार्य करते है जिसमे उनके खो यानी कि गुम हो जाने का संकट बना रहता है। ऐसे profession में कार्य करने वाले लोगो के लिए इस code के बारे में जानकारी होना बहुत जरूरी होता है। ताकि यदि जब वो लोग किसी तरह के मुसीबत में पड़ जाए तो अपने लिए मदद बुला सके।

शुरुआत के समय मे जब इस code को design यानी कि बनाया गया था, तो इसका उपयोग केवल defense और military के अधिकारी और नेवल अधिकारी ही करते थे। क्योंकि इस code के बारे में केवल उन लोगो को ही मालूम था।  लेकिन बाद में आगे चलकर इसे public domain में भी बता दिया गया तथा इसके बारे में सभी को बताया गया कि यह SOS code क्या है और इसका उपयोग कब तथा क्यो करना चाहिए।

आज तक बहुत से लोगो को इस code की मदद से सुरक्षित बचा लिया गया है। जिसमे कि अधिकतर नौचालक है। क्योंकि वो लोग जब भी कभी समुद्र में जाते है और जब सही दिशा भटक जाने के कारण वो गहरे समुद्र में फस जाते है। ऐसे में बाहरी मदद के द्वारा ही उनको rescue किया जा सकता है।

तो चलिए आपको SOS code के बारे में पूरी जानकारी विस्तार से देते है कि SOS code क्या है और इसको कब तथा क्यो बनाया गया था इसका Full Form क्या होता है!

SOS CODE क्या होता है तथा SOS का Full Form क्या है।

what is the full form of sos

बहुत से लोगो को SOS के बारे में तो पता रहता है लेकिन SOS के Full Form के बारे में उनको जानकारी नही रहती है। वैसे इसके कई full form है लेकिन ‘save our souls’ meaning को ही अधिक मान्यता दी जाती है।

SOS एक international Morse code है। क्योंकि international radio telegraphic convention में Morse code का इस्तेमाल होता है। इसी लिए इसको ऐसे तरीके से बनाया गया है कि इसे किसी  को भी send करने में आसानी हो। इस कोड को लिखने के लिए शुरुआत में तीन और अंत मे तीन dots “S” के प्रतीक होते है वही dash “O” को दर्शाता है तथा इसे ऐसे लिखा जाता है (..___…) । इस कोड का उपयोग emergency में मदद बुलाने के लिए किया जाता है।

SOS Signal का उपयोग क्यो और कब किया जाता था।

जैसा कि हम आपको ऊपर भी बता चुके है कि SOS signals का उपयोग emergency के समय मे इस्तेमाल किया जाता है। ताकि आप अपने लिए बाहर से मदद को बुला सके। लेकिन इसका इस्तेमाल शुरुआत के समय मे केवल कुछ लोग ही करते थे जैसे कि national security forces क्योकि मुसीबत में केवल उनको ही मदद पहुँचाई जाती थी। लेकिन धीरे धीरे इसका इस्तेमाल आम लोगो के लिए भी उपलब्ध करवा दिया गया था। जिसका अधिकतर उपयोग नाभिक ही किया करते थे। क्योंकि वो लोग अक्सर समुद्र में रास्ता भटक जाते थे। ऐसे में गहरे समुद्र से निकलने के लिए वो लोग sos signals के द्वारा ही खुद के लिए मदद मँगवाते थे।

SOS Signals के द्वारा कैसे दुसरो तक मदद मांगने के लिए पहुँचाया जाता है।

अगर आप किसी ऐसी जगह फस जाते है जहाँ कोई भी digital signal पहुँचा कर मदद मांगने की शुभिधा नही है। ऐसे में आपको पुराने traditional SOS code के तरीकों का इस्तेमाल करके अपने लिए मदद बुला सकते है। तो चलिए जानते है उन SOS signals के बारे में जिनका उपयोग आप SOS signal के रूप में मदद मँगवाने के लिए इस्तेमाल कर सकते है।

  • आग के ऊँचे ऊँचे flames के द्वारा जब भी कभी कोई ऐसी जगह मुसीबत में फस जाता है जहाँ पर मदद की कोई उम्मीद या कोई भी व्यक्ति मदद के लिए नही दिखाई देता है, तो ऐसे में मदद पाने के लिए आप आग की ऊंची flames का सहारा ले सकते है। आज के flames इतने ऊँचे और चमकदार होते है कि यदि कोई व्यक्ति या plane दूर से भी गुज़र रहा हो तो उसे आग के flames की चमक दूर से दिख जाएगी। ऐसे में हो सकता है कि कोई आपकी मदद के लिए आ जाए।
  • Tapping के द्वारा tapping बात करने का एक ऐसा माध्यम है जिसके माध्यम से बिना बोले या बिना कोई इशारा किए सामने वाले से बात कर सकते है, लेकिन ऐसे में आपके सामने वाले को भी tapping language का ज्ञान होना चाहिए। इसका उपयोग आप तब कर सकते है जब आप का अपहरण हो गया हो, कही दबे होने पर, या फसे होने की स्तिथि में यह काम आता है।
  • Light के द्वारा यह सबसे अच्छा साधन है जब भी कही आप रात के अंधेरे में फस जाते है। ऐसे में आप torch light, flash light, आग के द्वारा आप किसी को अपनी मदद के लिए बुला सकते है। और यह अंधेरे में आसानी से दिखाई दे जाते है।
  • Black smoke के द्वारा smoke के द्वारा आप sos मदद बुला सकते है। क्योंकि यह smokes दूर से ही दिखाई देते है। तो यदि आप किसी ऐसी जगह फसे हो जहाँ जंगल है ऐसे में आप इस तरह की trick से मदद बुला सकते है। वही अगर smoke को आप red color में बदल सकते है तो और भी अच्छी बात है।
  • Mirror के द्वारा Mirror के द्वारा आप आसानी से किसी को अपनी मदद के लिए बुला सकते है। लेकिन इसके लिए sun light का होना बहुत जरूरी है। तभी आप light को mirror से reflect करके किसी को अपनी मदद के लिए बुला सकते है। यहाँ जरूरी नही है कि आप mirror का ही उपयोग करे। बल्कि आप किसी भी reflective चीज़ का उपयोग कर सकते है।

Mobile में SOS कैसे Enable करे।

आज के समय मे जैसे जैसे दुनिया digital platform को अपना रही है। वैसे ही बदलते वक्त के अनुसार mobiles में भी SOS का feature डाल दिया गया है। हालांकि apple जैसे phones में यह feature पहले से ही उपलब्ध है। लेकिन android users के लिए अभी भी यह feature roll out किया जा रहा है।

लेकिन आज के समय मे बहुत से नए android devices में इस security feature को डाल दिया गया है। जिसे आप को अपने mobile में setup करना होता है। और setup करने के बाद आप इसका उपयोग कभी भी कर सकते है तो चलिए जानते है android में कैसे SOS को setup कर सकते है।

  • सबसे पहले आप mobile में settings option को खोल लीजिए।
  • अब आपको यहाँ SOS emergency का option ऊपर या नीचे की तरफ दिखाई देगा। उस पर click कर दे।
  • अब आपको इस option को enable करना है। enable करते ही आपको कोई contact add करने को कहा जाता है।
  • तो जिसे आप emergency message send करना चाहते है उसका number add कर दे।
  • अगर आप चाहते है कि SOS message send करते वक़्त आपकी call list के contact’s भी send हो जाए, तो आप उस option को enable कर दिजीए।
  • अब जब आप कभी भी power button को 5 बार press करेंगे तो SOS emergency message आपके contacts को send हो जाएगा।

Mobile sos feature की खास बात यह है कि आपके contact के पास आपके location भी send करता है तथा google map के द्वारा phone को track कर सकते है। और victim तक पहुँच सकते है।

क्या आज के समय मे भी SOS Code का इस्तेमाल किया जाता है।

जी हां, आज के आधुनिक समय मे इसका इस्तेमाल लोगो की safety के लिए किया जाता है। और अब तो सरकार के द्वारा भी SOS feature को सभी mobiles में include करने के आदेश दे दिए गए है। तथा अब जो भी नए phones आप खरीदेगे उन में पहले से ही SOS का feature मौजूद होगा, आपको बस उस feature को activate करना होगा, जो कि हमने आपको ऊपर ही बता दिया है कि कैसे आप SOS safety feature को अपने mobile phone में activate कर सकते है।

इस feature को add करने के पीछे govt का यह मकसद है कि अपने नागरिकों को सुरक्षित रखे। आज के समय मे बहुत से लोगो के साथ कभी भी कुछ भी अनचाही घटनाएं हो जाती है ऐसे में उनके mobile में SOS feature होने से वो कभी भी मदद  बुला सकते है।

SOS Code System के क्या फायदे है।

  • मुसीबत में इसके द्वारा कही से भी मदद बुला सकते है।
  • SOS के द्वारा बहुत से लोगो की जान बचाई जा चुकी है।
  • महिलाओं के लिए यह feature बहुत ही जरूरी है। ताकि वो लोग मुसीबत में किसी को मदद के लिए बुला सके।
  • यह आपकी location को भी send करता है ताकि आपको ढूंढने में ज्यादा मुश्किल न हो।

Tips (Sos Full Form)

इस post में आपने जाना कि SOS code क्या है Full Form क्या होता है और इसके कब बनाया गया था। SOS का आप कैसे मुसीबत में इस्तेमाल कर सकते है। तथा SOS को अपने mobile में कैसे enable करे और इसके क्या फायदे है।

आज के समय मे सभी के लिए security बहुत अवर्शक है, चाहे वो खाश हो या आम जन हो, क्योंकि अगर आप देखे तो रोज़ ही कुछ न कुछ लोगो के साथ घटनाएं होती ही रहती है। खाश कर लड़कियों और महिलाओं के साथ। इसी लिए आज के समय मे सतर्कता बहुत जरूरी है और आपको अपनी safety कैसे करनी है इसके बारे में भी आपको जानकारी होना जरूरी है। इसी लिए हमने आज अपने इस post के माध्यम से आपको SOS के बारे में बताया है। ताकि आप मुसीबत के समय में अपने लिए कैसे मदद बुला सकते है।

आज के समय मे SOS का feature सभी के mobile phones में भी आ गया है। जो की emergency वक़्त में आपके मदद के लिए आपके द्वारा feed किए numbers पर alert message send करके आपको safe रखने में मदद करता है।

दोस्तों हमारी यह जानकारी आपको कैसी लगी आप हमें अपनी राय ज़रूर दे, ताकि हम आपके लिए ऐसे ही जानकारी भरे post लाते रहे, और इस जानकारी को आप अपने दोस्तों और महिला मित्रों के साथ ज़रूर share करे ताकि वो लोग इस feature का लाभ प्राप्त कर सके।

Join Our Telegram Channel

Read More

नमस्ते, मेरा नाम Samir है मै HFT का Co-Author & Founder हु मुझे हमेशा से नयी चीजे सिखने तथा उन्हे लोगो के साथ शेयर करना पसंद है. क्योकि मैं भी आपकी तरह ही हु. अगर आपको हमारा काम पसंद आता है तो हमे सोशल साईट पर फॉलो कर सकते है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here