PDF का Full Form क्या होता है? जानिए हिन्दी मे!

PDF Full Form In Hindi – पोर्टेबल डॉक्यूमेंट फॉर्मेट (PDF) 1990 के दशक में एडोब द्वारा तैयार किया एक फाइल फॉर्मेट है. जिसमें एप्लिकेशन सॉफ्टवेयर, हार्डवेयर और ऑपरेटिंग सिस्टम से इंडिपेन्डेंट तरीके से टेक्स्ट फॉर्मेटिंग और इमेज के साथ डॉक्युमेंट्स होते हैं। ये फाइल फॉर्मेट इसलिये इतना फेमस है क्योंकि इसको किसी भी इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस जैसे – computer, Mobile, Tablet पर आसानी से खोला जा सकता है और PDF फ़ॉर्मेट आसानी से प्रिंट भी कर सकते है।

PDF को 2008 में आईएसओ 32000 के रूप में स्टैंडर्डाइज़्ड किया गया था, और अब इसको यूज़ करने के लिए किसी भी रॉयल्टी की जरुरत नहीं है। आज कल, PDF फाइलों में फ्लेट टेक्स्ट और ग्राफिक्स के अलावा लॉजिकल स्ट्रक्चरिंग एलिमेंट्स , इंटरैक्टिव एलिमेंट्स जैसे एनोटेशन और फॉर्म-फील्ड, लेयर्स, रिच मीडिया (वीडियो कंटेंट) और कई तरह के डाटा फॉर्मेटस हो सकते हैं।

लेकिन PDF फाइल को पड़ने के लिए आपके पास PDF रीडर ( PDF Reader ) सॉफ्टवेयर होना चाहिए तभी आप PDF फाइल को ओपन कर सकते हैं।

मान लीजिए आपको एमएस वर्ड की कोई बहुत बड़ी फाइल है और वह किसी दूसरी जगह ले जानी है या अपने मोबाइल में कॉपी करके उसे ओपन करना है तो आप उसे PDF में कन्वर्ट कर लीजिए या फिर आपको किसी को कोई बड़ी फाइल ईमेल के द्वारा भेजनी है और हो सकता है उसके पास वह एप्लीकेशन ना हो तो आप उसे पीडीएस में कन्वर्ट कर दीजिए और ई-मेल से आप उसे बड़े आसानी से भेज सकते हैं एक तो फाइल बहुत Portable हो जाएगी यानी छोटी हो जाएगी उसका साइज कम हो जाएगा और दूसरा उसे कहीं भी आसानी से ओपन करके देखा जा सकता है।

चलिए अब PDF का Full Form क्या होता है (What Is The Full Form Of PDF In Hindi) ये जान लेते है एवं इसका उपयोग कैसे करना है ये भी सिख लेते है।

PDF का Full Form क्या होता है?

what is the full form of pdf
PDF

PDF एक फाइल फॉर्मेट है, PDF का पूरा नाम यानि Full Form “पोर्टेबल डॉक्यूमेंट फाइल” (Portable Document File) है, जो आपके फाइल को एक पोर्टेबल फाइल जैसे की किसी टेक्स्ट फाइल , फोटोज , वर्ड डॉक्यूमेंट आदि को एक पढ़ने वाली फाइल में कन्वर्ट कर देता है, आप बाद में कभी भी इस फाइल को इन्टरनेट की सहायता से कहीं भी आसानी से भेज सकते है, और पढ़ सकते है ।

PDF का इतिहास

1991 में, एडोब के Co-founder डॉ जॉन वॉर्नॉक ने द-कैमलॉट प्रोजेक्ट नामक एक आइडिया के साथ पेपर-टू-डिजिटल क्रांति की शुरुआत हुई। इसका लक्ष्य किसी भी डॉक्युमेंट्स के इलेक्ट्रॉनिक वर्ज़न को कभी भी और कहीं भी भेजना, पढ़ना और प्रिंट कर पाना था। 1992 तक, कैमलॉट PDF में डवलप हो गया था। आज, यह दुनिया भर में बहुत भरोसे के साथ यूज़ किया जाता है।

1993 में Adobe Systems ने PDF स्पेसिफिकेशन को फ्री में प्रेजेंट किया। शरुआत के सालों में PDF मेनली डेस्कटॉप पब्लिकेशन वर्कफ़्लोज़ में फेमस था और कई तरह के फॉर्मेट्स जैसे कि DjVu, Envoy, Common Ground Digital Paper, Farallon Replica आदि के साथ कॉम्पटीशन में था।

PDF एक Adobe का प्रोप्राइटरी फॉर्मेट था इसलिए इसे Adobe द्वारा ही कंट्रोल किया जा सकता था। 2008 में, Adobe ने ISO 32000-1 के लिए एक पब्लिक पेटेंट लाइसेंस पब्लिश किया, जिसमें Adobe के पेटेंट के लिए अपने सभी अधिकार रॉयल्टी-फ्री कर दिए, जो PDF- बनाने, यूज़ करने, बेचने और डिस्ट्रीब्यूट करने के लिए जरुरी थे।
आज यह एक open standard है जिसको की International organization for standard (ISO) maintain करता है।

PDF तकनीक

PDF तीन तकनीकों को मिलाकर काम करती है।

सबसे पहले लेआउट और ग्राफिक्स बनाने के लिए पोस्ट स्क्रिप्ट पेज डिस्क्रिप्शन का प्रोग्रामिंग लैंग्वेज में एक सबसेट तैयार किया जाता है।

फ़ॉन्ट-एम्बेडिंग / रिप्लेसमेंट सिस्टम से फ़ॉन्ट भी डाक्यूमेंट्स के साथ ही बिना चेंज हुए ट्रैवल करते हैं।
एक स्ट्रक्चर्ड स्टोरेज सिस्टम सभी एलिमेंट्स के साथ पूरे डेटा को डेटा कंप्रेशन से एक सिंगल फ़ाइल में बना देता है।

Technical Overview

File structure

PDF फाइल एक 7-बिट ASCII फ़ाइल है, जिसमें कुछ एलिमेंट्स को छोड़कर बाकि सब बाइनरी कंटेंट हो सकते हैं। एक PDF फाइल मैजिक नंबर और फॉर्मेट के वर्जन जैसे %PDF-1।7 के एक हेडर से शुरू होती है। फॉर्मेट एक COS (“Carousel” Object Structure) फॉर्मेट का एक सबसेट है।

PDF फाइलों के लीनियर (“optimized”) और नॉन -लीनियर (not “optimized”) दो लेआउट होते हैं। नॉन- लीनियर PDF फाइल्स, लीनियर PDF फाइल्स के मुकाबले कम डिस्क स्पेस यूज़ करती हैं। जरुरी डेटा पूरी PDF फ़ाइल में बिखरा होने के कारण डॉक्यूमेंट के पेजों को असेम्ब्ल करने में ये बहुत स्लो स्पीड में काम करती हैं लीनियर PDF फाइल्स को “ऑप्टीमाइज़्ड” और “वेब ऑप्टीमाइज़्ड ” PDF फाइल्स भी कहा जाता है। इन फाइल्स को इस तरह से बनाया जाता है कि पूरी फाइल डाउनलोड हुए बिना ही वेब ब्राउज़र प्लगइन में रीड की जा सके।

Text

PDF में टेक्स्ट, पेज कंटेंट स्ट्रीम्स में टेक्स्ट एलिमेंट्स द्वारा रिप्रेसेंट किया जाता है। करेक्टर्स की सही पोजीशन एक टेक्स्ट एलिमेंट ही तय करता है। सिलेक्टेड फॉन्ट रिसोर्स का उपयोग करके करेक्टर्स को स्पेसिफाई किया जाता है।

Fonts

PDF में एक फ़ॉन्ट ऑब्जेक्ट एक डिजिटल टाइपफेस का डिस्क्रिप्शन है। यह या तो एक टाइपफेस की करक्टरिस्टिक्स को बता सकता है, या इसमें एक एम्बेडेड फ़ॉन्ट फ़ाइल इंक्लूड हो सकती है। बाद वाले को एक एम्बेडेड फ़ॉन्ट कहा जाता है, जबकि पहले वाले को एक अनएम्बेडेड फ़ॉन्ट कहा जाता है।

जो फ़ॉन्ट फ़ाइलें एम्बेड की जा सकती हैं, वह हर जगह यूज़ किए जाने वाले फ़ॉन्ट फोर्मट्स पर बेस्ड हैं:

  • Type 1 (and its compressed variant CFF)
  • True Type
  • Open Type (beginning with PDF 1.6)

PDF फाइल्स की सुरक्षा

जब आप इलेक्ट्रॉनिक डॉक्युमेंट्स के साथ काम करते हैं, तो सुरक्षा का ध्यान रखना बहुत जरुरी है। किसी और के द्वारा अपने डॉक्युमेंट्स को कॉपी और एडिट करने से रोकने के लिए आप अपनी PDF फाइल्स को पासवर्ड से सुरक्षित कर सकते हैं। एक PDF फाइल को सुरक्षा के लिए एन्क्रिप्ट किया जा सकता है, या फिर कन्फर्मेशन के लिए डिजिटल रूप से साइन किया जा सकता है। PDF फाइल्स को सुरक्षित करने के लिए एक्रोबेट द्वारा दो अलग-अलग मेथड्स दिए गए हैं :
एक यूजर पासवर्ड, जो फ़ाइल को एन्क्रिप्ट करता है और खोलने से रोकता है।

एक ओनर पासवर्ड, जो कि स्पसिफाइस ऑपरेशन्स को रिस्ट्रिक्टेड करता जब डाक्यूमेंट्स को डेक्रिप्टेड किया जाये।

PDF फाइल के फायदे

  • जैसा कि इसके नाम में ही Portable शब्‍द है इसका मतलब यही है कि इसे एक से दूसरी जगह ले जाना बहुत आसान है।
  • PDF फाइल को password से protect किया जा सकता है आजकल किसी भी Document को PDF converter की सहायता से PDF में बदला जा सकता है.
  • और किसी भी डिवाइस जैसे कंप्‍यूटर और मोबाइल में खोला सकता है।
  • PDF को Print करना बहुत आसान है यहां तक कि Both Sides और Booklet Printing भी आप PDF को आसानी से कर सकते हैं।
  • PDF file काफी बड़े डाक्यूमेंट्स को कॉम्प्रेस कर के बहुत छोटे आकार में store कर सकता है।
  • PDF की एक खास बात ये है की PDF फाइल को किसी भी software से किसी भी operating system पर create किया जाये तो इसकी appearance same रहती है और यूज़ करने मे कोई फर्क नज़र नहीं आता ।

PDF File कहाँ काम आती हैं

PDF files वैसे तो आज कल ऑलमोस्ट सभी mobile व computer user सभी तरह के ordinary digital documents के लिए भी यूज़ करने लगे हैं लेकिन ये ज्यादातर मैगज़ीन आर्टिकल्स , प्रोडक्ट ब्रोशर्स , फ्लायर्स जिस में ग्राफ़िक्स के साथ टेक्स्ट का यूज़ होता है और जिन डॉक्यूमेंट में non editable information होती है वहां पर ज्यादा यूज़ में आता है। PDF file मे इमेजेज़ , टेक्स्ट व अदर इनफार्मेशन होती है जिसको आप रोटेट, ज़ूम इन व ज़ूम आउट करने के साथ साथ पेज फॉरवर्ड और बैकवर्ड भी कर सकते हैं ।

PDF File कैसे बनाएं

PDF फाइल को दो तरह से बनाया जाता है।

  • Ms-Word से
  • Adobe Photoshop से

Ms-Word (Microsoft Word) से PDF file बनाना

PDF file बनाना बहुत ही आसान है, आप Ms-Word की मदद से document फाइल को PDF file में convert कर सकते हैं।

इसके लिए आपके Ms-Word में एक extension word to pdf इनस्टॉल होना चाहिए। इसे आप Microsoft के ऑफिशियल वेबसाइट से डाउनलोड कर सकते हैं।

अब आप जिस फाइल को PDF फाइल बनाना चाहते है, उसे ओपन करें, और save as कमांड से save करें। और file type में .pdf को सेलेक्ट करें और फाइल को save कर दें।

Ms Word 2007 में PDF फाइल बनाना

  • अगर आप Ms Word का 2007 version का यूज़ कर रहे हैं तो आप फाइल आइकन पर क्लिक करें।
  • अब आप save as पर क्लिक करें।
  • इसके बाद आप save as के आप्शन PDF and Xps document पर क्लिक करें।
  • अब file name में फाइल का नाम टाइप करें और save as type में से PDF को सेलेक्ट करें।
  • अब save बटन पर क्लिक कर के फाइल को save कर दें।
  • आप की PDF फाइल बन कर तैयार हो जाएगी ।
  • Ms Word 2013 या 2016 में PDF फाइल बनाना
  • सबसे पहले आप जिस फाइल को PDF बनाना चाहते हैं उसे ओपन करें.
  • file menu पर क्लिक करें.
  • अब आप save as कमांड पर क्लिक करें.
  • इसके बाद computer पर क्लिक करें
  • फिर documents पर क्लिक करें.
  • अब यहाँ पर file name में फाइल का एक नाम टाइप करें.
  • save as type में click करके उस में से आप PDF को सेलेक्ट करें.
  • अब save बटन पर क्लिक कर दें.

Adobe Photoshop से PDF फाइल बनाना

  • जिस इमेज को आप PDF में convert करना चाहते हैं आप पहले उसे ओपन करें।
  • अब file menu पर क्लिक करें।
  • इस में आप save as पर क्लिक करें।
  • अब यहाँ file name में फाइल के लिए कोई एक name टाइप करें,
  • और format में photo shop pdf (*।PDF, *।PDP) को सेलेक्ट करें।
  • और अब लास्ट में save बटन पर क्लिक करें ।
  • आप की इमेज फाइल अब pdf फाइल में convert हो गयी है।

इन में से किसी भी मेथड् को यूज़ करके आप अपनी किसी भी इमेज ,document फाइल को बड़ी ही आसानी से pdf फाइल में convert कर सकते हैं।

PDF file कैसे open करें

पीडीएफ़ file सिर्फ PDF reader में ओपन की जा सकती है। इसके लिए बहुत से PDF Reader एप्‍लीकेशन अवलेबल हैं। वैसे तो PDF file को open करने के लिए Adobe Acrobat Reader एक अच्छा rich features software है। इसके अलावा और भी कई कंपनियों ने PDF रीडर एप्लीकेशन बनाई हैं।

PDF फाइल ओपन करने के दो तरीके हैं या तो आप कोई भी PDF रीडर अपने कंप्यूटर में या फोन में इंस्टॉल कर लें या फिर आप गूगल क्रोम ब्राउज़र की सहायता से भी PDF फाइल को ओपन कर सकते हैं। PDF फाइल को ओपन करने के लिए आपको गूगल क्रोम ब्राउजर में अपनी PDF फाइल को बस ड्रैग करके छोड़ना है और आपकी PDF फाइल ओपन हो जाएगी।

PDF file को कैसे edit करें

पीडीएफ़ फाइल्स को रीड तो किया जा सकता है लेकिन क्या इसे Edit भी किया जा सकता है? PDF फॉर्म फ़ील्ड से आप अपनी कोई भी नई जानकारी PDF फाइल में टाइप कर के चेंज कर सकते हैं और उसे सेव भी कर सकते हैं। Adobe Acrobat, Microsoft word को use करके आप PDF file को Edit कर सकते हैं। इसके साथ साथ market में कुछ third party PDF editor software भी available हैं जिनकी हेल्प से PDF फाइल को एडिट किया जा सकता है जैसे की Phantom PDF and Nitro Pro आदि । कुछ Online PDF editor भी है जिनको use करके आप PDF file को edit कर सकते हैं जैसे की PDF escape । इसके लिए आपको PDF file को online upload करना होगा । PDF file में टेक्स्ट एडिट करना थोडा मुश्किल होता है क्यों कि इस में जो भी डाटा स्टोर होता है वो इमेज (image) की फॉर्म में होता है।

सेफ और सिक्योर होने के कारण PDF पर आज पूरी दुनिया के सभी business भरोसा करते हैं । PDF file एक ऐसा फाइल टाइप है जिसे computer और internet की दुनिया में हर कोई हर तरह के ऑफिशियल और पर्सनल काम के लिए बड़ी आसानी से यूज़ कर रहा है। इसीलिए हमें इस बात की पूरी जानकारी जरुर होनी चाहिए कि PDF file क्या है, इसका Full Form क्या होता है? (PDF Full Form In Hindi) इसके क्या फायदे हैं और इस को कैसे क्रीएट किया जाता है। इस पोस्ट के माध्यम से मैंने आप लोगो को यही बताने का प्रयास किया है।

Read More

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here