PCM Full Form In Hindi – पीसीएम का फुल फॉर्म क्या होता है!

PCM Full Form In Hindi – PCM या यह कहे कि physics, chemistry, math, ये वो subject है जिसका नाम सुनकर अक्सर students डर जाते है। लेकिन ये ही वो subjects है जिनको पढ़ने के बाद वैज्ञानिको ने दुनिया मे नए-नए innovation किए है जैसे कि mobile phones, vehicles, gadgets, medical equipment’s, home equipment’s, etc.

यदि आज के समय मे आप Airplane में घूम रहे है और मीलों का सफर आप केवल कुछ घंटों में खत्म कर पा रहे है तो यह science और technology की मदद से ही संभव हो पाया है। लेकिन यह अपने ज़रुर सोचा होगा कि आखिर Airplane उड़ता कैसे है, यह physics और mathematics का खूबसूरत नमूना है। जिसकी मदद से Airplane को design किया गया हैं। तथा सालो की मेहनत के बाद इसमे काफी सुधार भी किए गए है।

PCM जैसे subjects को चुनने से पहले आपको यह ज़रूर मालूम होना चाहिए कि इसमें दूसरे subjects के मुकाबले आपको अधिक पढ़ना पड़ता है और मेहनत भी अधिक करनी पड़ती है। लेकिन इसमें आपको बहुत से प्रकार के career options भी मिलते है और आप अपने interest के हिसाब से किसी भी career में अपना भविष्य बना सकते है।

तो चलिए विस्तार से जान लेते है कि PCM क्या है और इसका का Full Form क्या होता है, और technical field में इसका क्या अलग मतलब है। PCM में पढ़ाई करने के बाद आप आगे क्या-क्या कर सकते है। तथा आपको इसमे कितने प्रकार के career opportunities मिल सकती है।

PCM Full Form In Hindi – पीसीएम का फुल फॉर्म क्या होता है!

what is the full form of pcm

PCM का Full Form Education Field में “Physics, Chemistry और Math” है। जो कि बच्चों को शुरू से ही schools में पढ़ाया जाता है। ताकि बच्चों को basic ज्ञान हो सके। लेकिन 10th class तक physics, chemistry और biology, science की एक book में शामिल होती है। और जबकि math एक अलग subject होता है। वही जब बच्चा आगे 10th के बाद 11th में जाता है तो उसके पास कुछ choices होती है। जैसे कि arts, commerce, science, जिनमे की अलग अलग subjects पढ़ने को होते है।

वही अगर आप इन मे से science को चुनते है और तो इसमें NON Medical को यदि चुनते है तो आपको PCM यानी कि physics, chemistry और math पढ़ने को मिलता है। यह subjects पहले की तरह आम नही रह जाते है। बल्कि अब इनमे आपको advance level की चीज़ें पढ़ने को मिलती है। और सभी की एक एक अलग separate book होती है। चुकी यह subject science से जुड़े होते है तो इनमें technical terms अधिक होते है जिस वजह से आपको शुरू में समझने में परेशानी होती है। लेकिन कुछ समय के बाद आपको सभी चीज़े समझ मे आने लगती है। लेकिन आपको मेहनत करनी पड़ती है।

Physics क्या है। इसका जन्म दाता किसको माना जाता है।

Physics के जन्म दाता albert Einstein को कहा जाता है जिन्होंने gravity की खोज की थी। तथा आगे चलकर उन्होंने कई और चीज़ों के बारे में भी खोज की थी। इन्ही की बदौलत आज कई तरह के आविष्कार का जन्म हुआ है। इसके साथ साथ Einstein ने कई प्रकार के forces को भी ढूंढा था। लेकिन इनका सबसे famous equation E=mc2 है। जिसमे की energy mass में बदली है और mass energy में।

जब आप physics के बारे में पढ़ेगे, तब आपको इसमे बहुत ही प्रकार की चीज़ों के बारे में पता चलेगा जैसे कि motion क्या है, friction क्या है, gravity क्या है। law of inertia क्या है। ये सभी चीज़े शुरू में तो आपको बहुत तंग करेगी, लेकिन जब आप इनको समझना शुरू करेंगे तब आपको यह सभी चीज़े आसान लगने लगेगी।

Chemistry क्या है। इसका जन्म दाता किसको माना जाता है।

Chemistry का जन्म दाता Antoine Laurent Lavoisier को माना जाता है। क्योंकि इन्होंने कई प्रकार के खोज किये थे जैसे कि oxygen और hydrogen और इन्होंने matric system में भी मदद की थी।

आज के समय मे आपको chemistry में बहुत सी तरह की चीज़ों को पढ़ना पड़ता है। क्योंकि physics, chemistry और math आपस मे जुड़े हुए है। chemistry में आपको chemicals bonds, और उनकी संरचनाओं के बारे में पढ़ने को मिलता है और इसके साथ साथ आपको electrons और protons जैसे चीज़ों के बारे में पढ़ने को मिलता है। इसमे आपको बहुत सी ऐसी chemical reactions के बारे में भी पढ़ने को मिलता है जो कि आपके साथ daily life में घटित होती है। लेकिन आप उनको जानकारी न होने के कारण पहचान नही पाते है।

Math क्या है। इसका जन्म दाता किसको माना जाता है।

Archimedes जो math का जन्म दाता कहा जाता है। इन्होंने pulleys और levers के laws को खोजा था। बहुत से बच्चों को math बहुत ही hard subject लगता है। ऐसा अक्सर इस लिए होता है। क्योंकि कुछ बच्चों को basic clear नही होता या वो लोग सही से समझने में ध्यान नही देते है। या तो कुछ को बिल्कुल भी समझ नही आता है। और वो लोग केवल रट्टा मारते रहते है। जिसकी वजह से उनको आगे चलकर काफी परेशानियाँ होती है।

Math जैसे subject में आपको गणना करना, हिसाब रखना, चीज़ों का सही आंकलन करना और किसी चीज़ के shape, size का आंकलन करना सिखाया जाता है। लेकिन इसमें बहुत सी चीज ऐसी होती है जो कि आपको हमेशा ही काम आती है। तथा यदि आप उच्च शिक्षा प्राप्त करना चाहते है तो उनमें आपके math subject का strong होना बहुत जरूरी होता है। क्योंकि math का इस्तेमाल physics, chemistry, biology, तथा commerce जैसे subjects में भी होता है।

PCM कब पढ़ने को मिलता है। इसमे कितने प्रकार के careers का चयन कर सकते है।

अगर देखा जाए तो PCM हमे school में शुरू से ही पढ़ने को मिलता है। लेकिन PCM मुख्य रूप से हमे 11th class में पढ़ने को मिलता है। जहाँ physics chemistry और math अलग अलग subject के रूप में पढ़ाए जाते है। और इन सभी subjects में हमे details में ज्ञान दिया जाता है तथा कैसे पूरे inventions होते है और दुनिया मे किस प्रकार के जीव तथा forces है इन सब का ज्ञान भी करवाया जाता है।

यदि आप अपने जीवन मे science के related field में कुछ करना चाहते है या यदि आप का science में interest है तो आप को science के subjects का चयन ज़रूर करना चाहिए। हालांकि यह subjects पढ़ने में थोड़े मुश्किल जरूर होते है। और आपको बहुत मेहनत भी करनी पड़ती है।

लेकिन PCM आपको बहुत सारे ‘career opportunities’ भी देता है और carrier को किसी भी field में switch करने की आज़ादी भी देता है। इसके साथ साथ यदि आप आगे चलकर कोई ऐसा field चुनना चाहते है जिसमे आपको अधिक पैसे मिले तो आप finance या scientist जैसे field में भी जा सकते है जहाँ आपको बहुत से प्रकार के options के साथ आपके income में भी growth होगा। तो यदि आप PCM subjects को अपने career option के लिए चुनते है तो आप उसमे मन लगाकर पढ़ाई करे।

Technical जगत में PCM क्या है। PCM का Full Form क्या है।

Technical जगत में PCM का Full Form “Pulse Code Modulation” होता हैं। इस process में analog signals को digital signals में बदला जाता है। इस technology का इस्तेमाल communication के field में अधिक किया जाता है। जैसे में telephone में, जब आप किसी व्यक्ति से telephone के जरिए बात करते है तब वह आपके voice जो कि analog signal में मौजूद होता है उसे PCM के जरिए digital signal में बदला जाता है।

यह technology बहुत पुरानी है लेकिन इसका इस्तेमाल आज भी बहुत widely किया जाता है। लेकिन हो सकता है कि आने वाले भविष्य में कोई नई और इससे बेहतर technology आ जाए जो इसे replace कर सके। तो शायद इसका अंत हो जाए लेकिन फिलहाल इसके कई फायदे है। जैसे कि यह analog के मुकाबले digital ज्यादा secure होते है। और wires के मध्यम से आसानी से एक स्थान से दूसरे स्थान पर travel करके भी जल्दी जाते है।

यह तीन steps में कार्य करता है वो है

  • Sampling- नमूनाकरण का कार्य निरंतर तरंग संकेत का नमूना करना है। यह नियमित अंतराल पर एक एनालॉग सिग्नल के आयाम को मापता है।
  • Quantization- यह infinite मान Signal को एक सीमित स्तर में बदलने की प्रक्रिया है। Samples के बाद, हमें कई amplitudes के signal Samples की एक श्रृंखला मिलती है। इन samples के आयाम को सीमित करने के लिए उपयोग किया जाता है।
  • Encoding- यह एक specified voltage level के लिए सिर्फ एक binary conversion है।

Tips

दोस्तों आप ने इस post में जाना कि PCM क्या है और physics, chemistry और math को पढ़ने से आपको क्या फायदे होते है। तथा PCM को पढ़ कर आप कैसे अपने career में आगे कुछ कर सकते है। आज के समय मे एक अच्छा career चुनना बहुत जरूरी है। ताकि आप अपने जिंदगी को settle कर सके तथा life में आगे बढ़ सके। यदि आप के पास एक अच्छी degree नही है और यदि आप जीवन मे successful नही हैं तो आपको न ही मान सम्मान मिलता है.

आज न ही कोई आपको महत्व देता है। और यदि आपके पास अच्छी डिग्री है और अच्छा काम है तो आप को सभी लोग महत्व भी देते है और मान सम्मान भी देते है। इसी लिए आज के समय मे लोग अच्छा career बनाने के लिए PCM को चुनते है ताकि उनके पास कई career options हो और आगे चलकर किसी भी field में अपना career बना सके।

PCM का एक दूसरा मतलब भी होता है जो कि pulse code modulation है। यह computer और technology के field में इस्तेमाल होने वाली चीज़ है। जिसमे कि analog signals को digital signals में बदला जाता है। दोस्तों यदि आप को हमारी यह जानकारी पसंद आई हो तो इसे अपने family और friends के साथ share ज़रूर करे ताकि उनको भी PCM के बारे में जानकारी हो सके।

Join our Telegram Channel

Read More

नमस्ते, मेरा नाम Samir है मै HFT का Co-Author & Founder हु मुझे हमेशा से नयी चीजे सिखने तथा उन्हे लोगो के साथ शेयर करना पसंद है. क्योकि मैं भी आपकी तरह ही हु. अगर आपको हमारा काम पसंद आता है तो हमे सोशल साईट पर फॉलो कर सकते है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here