NCC Full Form In Hindi – एनसीसी फुल फॉर्म क्या होता है?

NCC Full Form In Hindi – यहाँ हम बात करने जा रहे हैं NCC के बारे हैं। यह एक बहुत ही जानी पहचानी शाखा होती है जिसकी ट्रेनिंग स्कूल एवं कॉलेज से ही प्रारंभ हो जाती हैं। एवं जिन छात्र एवं छात्राओं को पुलिस या फिर सैनिक बनना होता है उनके लिए यह अहम् हिस्सा होता है। तो आज हम इसी अहम् हिस्से मतलब NCC के बारे में बात करने जा रहे हैं।

NCC क्या है? NCC Full Form In Hindi

what is the full form of ncc in hindi

NCC का पूरा नाम यानि Full Form है “National Cadet Corps” इसे सशस्त्र बलों का यूथ विंग भी कहा जाता है। इसे विश्व का सबसे बड़ा युवा संगठन माना जाना गलत नहीं होगा। इसमें युवाओं को अनुशासन और नेतृत्व के अनुसार प्रशिक्षित किया जाता है।

इसे कॉलेज एवं स्कूल के छात्र एवं छात्राओं के लिए खोला गया जिसमें भारत की नौसेना, वायु सेना एवं जल सेना के द्वारा NCC के Cadet को Training प्रदान की जाती एवं इन्हें अनुशासन सिखाया जाता है। NCC Ka Full Form तो आप जान गए चलिए इसका इतिहास जानते है।

NCC का इतिहास

NCC से जुडी हुई कई अहम् बातें जो इसके इतिहास को प्रदर्शित करती हैं जैसे:

  • NCC की शुरुआत 1948 में हुई थी।
  • इसका आदर्श वाक्य “”एकता एवं अनुशासन”” रखा गया और आज भी यही है इसमें कोई बदलाब नहीं किया गया।
  • NCC का चिन्ह इसके नाम पर ही आधारित है जिसमें स्वर्णांकित एन सी सी क्रेस्ट है। इस चिन्ह में सात पृष्ठभूमि  में तीन रंग है लाल, नीला तथा हल्का नीला ।
  • NCC क्रेस्ट में जो लाल रंग है वह थल सेना का प्रतीक है।
  • इसका गहरा नीला एवं हल्का नीला रंग वायुसेना का प्रतीक है।
  • इसमें कमल का फूल 17 राज्य निदेशालयों का प्रतीक है।
  • NCC दिवस नवंबर के चौथे रविवार को हर साल मनाया जाता है।
  • NCC राष्ट्रीय स्तर पर रक्षा मंत्रालय के अधीन है।
  • NCC सभी राज्यों में शिक्षा मंत्रालय के अधीन होता है।
  • केन्द्र एवं राज्य सरकारों द्वारा NCC के लिए वित्त/निधियों की व्यवस्था  की जाती है।
  • सेना की कमी के कारण NCC की उत्त्पत्ति की गई थी।

1947 जब भारत आजाद हुआ था तब भारत में सैनिकों की संख्या बहुत ही कम थी। तब पंडित हृदय नाथ कुंजरू जी ने भारत को एक सुझाव दिया कि देश में सैनिकों की संख्या बढ़ाने के लिए एक नेशनल लेवल की सैनिक छात्र संस्था का निर्माण होना चाहिए। इनके सुझाव के कुछ ही महीनों बाद 16 अप्रैल 1948 में National Cadet Corps (NCC) की नींव रखी गई। और इसमें लगभग 20,000 छात्रों ने हिस्सा लिया और बाद में यह संख्या बढ़ गई और आज लगभग 13 लाख तक छात्र NCC में हैं।

NCC का उद्देश्य क्या है?

NCC को बनाने के पीछे कई उद्देश्य हैं जैसे:

  • युवाओं में देशभक्ति एवं अनुशासन को जगाना।
  • इसका मुक्य उद्देश्य था कि युवाओं में अनुशासन, भाईचारे, चरित्र विकास एवं साहसिक कार्य की भावना को विकसित करना।
  • युवाओं में नेतृत्व गुणों को जगाना एवं उनको बढ़ावा देना।
  • युवाओं को सेना में जाने के लिए प्रेरित करना।

ये कुछ मुख्य उद्देश्य NCC को बनाने के पीछे हैं। और इसके परिणाम भी उचित रूप से दिखाई दिए हैं।

एनसीसी सर्टिफिकेट

NCC सर्टिफिकेट तीन प्रकार के होते हैं इन्हें प्रमाण पत्र भी कहा जाता है। ए, बी एवं सी। NCC का “ए” लेवल का प्रमाण पत्र 15 वर्ष से कम उम्र के छात्रों के लिए होता है। “बी” प्रमाण पत्र अधिकतम 17 वर्ष तक की आयु के छात्रों को दिया जाता है। और “बी” प्रमाण पत्र के दो साल के बाद छात्र “सी” प्रमाण पत्र प्राप्त करते हैं।

जिन्हें “ए” प्रमाण पत्र मिला है वे ज्यादा से ज्यादा कंपनी सार्जेंट मेजर पद ही प्राप्त कर पाते हैं। “बी” प्रमाण पत्र वाले जेयूओ पद प्राप्त करते हैं वहीं “सी” प्रमाण पत्र वाले कंपनी सीनियर अंडर ऑफिसर का पद प्राप्त करते हैं। जिन छात्रों को NCC का “सी” प्रमाण पत्र मिलता है उन्हें अर्धसैनिक बलों के साथ ही साथ कई सरकारी नौकरियाँ मिलने भी सहायता मिलती है।

NCC में छात्र अपनी इच्छा  के अनुसार ही नाम देते हैं और NCC Join करते हैं। NCC में कोई भी छात्र 13 वर्ष की आयु में शामिल हो सकता है। यहाँ पर छात्र को 2 वर्षों का प्रशिक्षण दिया जाता है। यहाँ छात्र की उम्र 13 से 18.5 वर्ष की होती है एवं यह प्रशिक्षण स्कूल से ही देना प्रारंभ हो जाता है।

स्कूल में दिए जाने वाले प्रशिक्षण को जूनियर डिवीजन एवं इसके बाद का प्रशिक्षण सीनियर डिवीजन कहा जाता है। अगर कोई छात्र NCC में रूचि रखता है तो उसे उस स्कूल में Admission लेना चाहिए जिस स्कूल में NCC हो। और जिसके द्वारा आप Graduation के साथ अपना 3 साल का प्रशिक्षण पूरा कर लें।

NCC के फायदे

NCC के कई फायदे हैं जिन्हें हर छात्र को जानना चाहिए। जैसे:

  1. NCC के द्वारा सेना की नौकरी आसानी से प्राप्त की जा सकती है। जिन भी छात्रों के पास “सी” प्रमाणपत्र होता है उनके लिए तो सेना में भर्ती लेना बहुत आसान हो जाता है।
  2. नौसेना में प्रत्येक कार्य के लिए 6 रिक्तियाँ और SSB इंटरव्यू में Points मिलते हैं।
  3. वहीं थल सेना IMA देहरादून और SSB के जो Interview होते हैं उसमें भी प्रत्येक वर्ष 64 पद OTA  और चेन्नई शॉर्ट सर्विस कमीशन के लिए कम से कम 100 पद प्रत्येक वर्ष निकलते हैं।
  4. वायु सेना में NCC सी प्रमाण पत्र धारक छात्रों के लिए कोई लिखित परीक्षा नहीं होती।
  5. अगर कम नंबर होने की वजह से किसी कॉलेज में एडमिशन लेने में समस्या आ रही है लेक्किन अगर आप NCC के छात्र रहे हैं तो एडमिशन आसानी से मिल जाता है। और अंकों में भी 2% अंक बढ़ जाते हैं।
  6. इस प्रकार से NCC के छात्रों को कई प्रकार के लाभ मिलते हैं। इसलिए अगर कोई छात्र सेना में भर्ती होना चाहता है तो उसे NCC लेना चाहिए और इसके फायदे लेना चाहिए।

NCC एक ईएसआई संस्था है। एवं यहाँ हर चीज़ सरकार के द्वारा प्रदान की जाती है। जब आप किसी शिविर में जायेंगे तो उसका भी खर्चा सरकार देती है। शिविर में NCC के हर छात्र का खाने पीने का खर्चा भी सरकार उठाती है। NCC एक मात्र ऐसी संस्था है जिसमें छात्रों को मुफ्त प्रशिक्षण दिया जाता है। NCC के द्वारा छात्र में अनुशासन आता है और एक अलग ही प्रातिरूप सामने आता है।

NCC “बी” प्रमाण पत्र के फायदे

जैसा कि हमने देखा तीन प्रकार के प्रमाण पत्र NCC में होते हैं जिनके अलग-अलग फायदे हैं। सबसे अच्छा “सी” प्रमाण पत्र को माना जाता है। सबसे पहले हम ये देखेंगे कि NCC “बी” प्रमाण पत्र की Elligibility क्या है।

NCC “बी” प्रमाण पत्र Elligibility

  • NCC “ए” प्रमाण पत्र वाले को NCC प्रमाण पत्र “बी” में 10 बोनस मार्क्स प्रदान किये जाते हैं।
  • NCC सीनियर विंग ट्रेनिंग प्रोग्राम के पहले एवं दूसरे वर्ष में कैडेट के द्वारा कम से कम 75% पीरियड अटेंड किये जाना अनिवार्य है।
  • परीक्षा से पहले एक Annual Training Camp NIC/COC/RDC को कैडेट के द्वारा अटेंड करना अनिवार्य है।
  • “बी” प्रमाण पत्र के कई फायदे हैं जैसे:
  • अगर किसी छात्र के पास “बी” प्रमाण पत्र है तो उसे सोल्जर रिक्रूटमेंट की लिखित परीक्षा में 10 अंकों का बोनस मिलता है।
  • इससे कैडेट को सेना में जाने का मौका मिलता है। और देश की सेवा करना का मौका मिलता है।

NCC Join करने के लिए Eligibility

NCC Join करने के लिए भी एक Eligibility Criteria होता है:

  • अगर आप NCC में प्रवेश चाहते हैं तो उस स्कूल या इंस्टिट्यूट में एडमिशन लीजिये जहाँ NCC हो।
  • NCC में प्रवेश के लिए मोरल कैरेक्टर भी अच्छा होना अनिवार्य है।
  • NCC में प्रवेश लेने के लिए छात्र भारत का नागरिक होना चाहिए।
    छात्र मेडिकली फिट होना जरुरी है।
  • जूनियर विंग के लिए अगर कोई छात्र अप्लाई करना चाहता है तो उसकी आयु 12 वर्ष से 18.5 वर्ष  होना अनिवार्य है।
  • सीनियर विंग के लिए निर्धारित आयु 26 वर्ष से कम रखी गई है।
  • जूनियर विंग का एनरॉलमेंट की अवधि 2 वर्ष एवं सीनियर विंग का 3 वर्ष तय की गई है।

NCC में हाइट कितनी चाहिए?

NCC में हाइट कितनी होनी चाहिए इससे जुड़े हुए सवाल अक्सर छात्रों के मन में आते हैं लेकिन ऐसा कोई पैमाना अभी तक NCC में नहीं रखा गया है। यह तब जरुरी होता है जब छात्र किसी सेना को Join करते हैं। उसके लिए अलग-अलग सेना के अनुसार अलग-अलग पैमाने निर्धारित किये गए हैं। लेकिन NCC में ऐसा कोई पैमाना नहीं है।

एनसीसी कोर्स का पाठ्यक्रम – NCC Syllabus

NCC का भी एक अलग पाठ्यक्रम होता है। स्कूल एवं कॉलेज में NCC की कक्षाओं का संचालन किया जाता है। जो प्रत्येक दिन 40 मिनिट की होती हैं। इस कक्षाओं में छात्रों को ड्रिल पढाया जाता है। इसके साथ ही साथ छात्रों को कई प्रकार के शारीरक अभ्यास भी कराये जाते हैं एवं इसके लिए परीक्षा भी देना होती है। इसमें कई चीज़ों को विस्तार पूर्वक पढाया जाता है जैसे मैप रीडिंग, मैन मैनेंजमेंट, समाज सेवा, राइफल खोलना, जोड़ना एवं उसके कलपुर्जे के बारे में समझाया जाता है।

सेना में भर्ती के लिए NCC के सर्टिफिकेट के भी अंक मिलते हैं वे इस प्रकार हैं:

नाविक की भर्ती में NCC प्रमाण पत्र के अंक

  • सर्टिफिकेट  ‘ए’ – 2 अंक
  • सर्टिफिकेट  ‘बी’ – 4 अंक
  • सर्टिफिकेट  ‘सी’ – 6 अंक

वायुसेना की भर्ती में NCC प्रमाण पत्र के अंक

  • ‘सी’ सर्टिफिकेट – 5 अंक
  • ‘बी’ सर्टिफिकेट – 4 अंक
  • ‘ए’ सर्टिफिकेट – 3 अंक
  • ‘ ए‘ सर्टिफिकेट भाग I एवं II – 3 अंक
  • ‘ए’ सर्टिफिकेट केवल भाग I – 2 अंक

तटरक्षक की भर्ती में NCC प्रमाण पत्र के अंक

इसमें Cutoff के अनुसार ए प्रमाण पत्र वाले छात्रों को 5% अंकों तक की छूट दी जाती है।

NCC की ट्रेनिंग

NCC की ट्रेनिंग भी आसान नहीं होती इसमें भी छात्रों को कई गतिविधियों से गुजरना पड़ता है। जो धीरे-धीरे छात्रों को परिपक्व बनाती हैं। इसमें कई चुनौतियाँ भी आती हैं जिसका सामना छात्रों को ट्रेनिंग के दौरान करना पड़ता है। और एक समय ऐसा आता है कि छात्र इन चुनौतियों से भलीभांति निपटना सीख जाते हैं।

चूँकि NCC भारत के तीनों सैन्य बलों की शाखाओं से जुड़ा है जल सेना, वायु सेना एवं वायु सेना। तो अब आप समझ ही सकते हैं कि इसकी ट्रेनिंग इसलिए इन तीनों शाखाओं से जुडी हुई है। और इसलिए NCC में प्राप्त किये गए प्रमाण पत्र का इनमें बहुत महत्व है।

कई छात्र सोचते हैं कि उन्हें सेना में जाने के लिए शारीरिक Activity बहुत करना होती हैं तो यह किसी भी सेना का एक बहुत छोटा सा हिस्सा है। सेना में भर्ती के लिए कई प्रकार की Activity होती हैं जिन्हें पूरा करना अनिवार्य होता है।

इसके साथ ही कई Activity इस प्रकार होती हैं जैसे Singing, Dancing, Instrument Playing, Acting ये सब भी सेना में अहम् भूमिका निभाते हैं। हालाँकि ये सब मौज मस्ती का एक जरिया है। आप सभी ये तो जानते ही हैं कि सेना में मोबाइल फ़ोन जैसी चीज़ें उपलब्ध नहीं होती तो उस दौरान इन सभी के द्वारा मौज मस्ती की जाती है।

इन सभी गतिविधियों द्वारा सैनिकों में एक जज्बा देखने को मिलता है कभी न हरने का जज्बा। साथ ही इनसे सैनिकों में आत्मविश्वास भी बढ़ता है जो बहुत ही ज्यादा जरुरी है।

NCC Activity के वर्ग

NCC की Activity को कुछ मुख्य वर्गों में बाँटा गया है जैसे:

  • शिविर प्रशिक्षण
  • संस्थागत प्रशिक्षण
  • Attachment प्रशिक्षण
  • Air Wing प्रशिक्षण
  • सामाजिक सेवा और सामुदायिक विकास गतिविधियाँ
  • Youth Exchange Program
  • Para Jumping Camp
  • Career Counselling एवं व्यक्तिगत विकास
  • Republic Day Camp
  • रिमाउंट एवं वेटरनरी यूनिट ट्रेनिंग
  • फायरिंग एवं तीरंदाजी गतिविधियाँ
  • प्रमाण पत्र परीक्षाओं का संचालन
  • साहसिक गतिविधियों का संचालन।

NCC Division

NCC में दो Division होती हैं

Junior Devision

Junior Devision को Junior Wing भी कहा जाता है। स्कूल के छात्रों को इस Devison के अंतर्गत रखा जाता है। इनकी उम्र 12 से 18.5 वर्ष निर्धारित होती है। इसका कार्यकाल या अवधि 2 वर्ष की होती है।

Senior Devision

Senior Devision को Senior Wing भी कहा जाता है। स्कूल के बाद कॉलेज में पढ़ रहे छात्रों के लिए यह Devision होता है। और इसके लिए कम से कम छात्र ने 10th कक्षा पास की हुई होना चाहिए। इसकी अधिकतम आयु 26 वर्ष तय की गई है। इनके कार्यकाल की अवधि 3 वर्ष होती है।

Tips

ये सभी NCC के बारे में अहम् जानकारी है जो उन छात्रों के लिए बहुत अहम् हैं जो सेना में भर्ती होना चाहते हैं। क्या आपको NCC का Full Form (Full Form Of NCC) पता था यदि हा तो कमेन्ट बॉक्स मे बताए साथ ही इस पोस्ट को अपने दोस्तों के साथ सोशल मीडिया पर शेयर करना नया भूले!

Read More

नमस्ते, मेरा नाम Samir है मै HFT का Co-Author & Founder हु मुझे हमेशा से नयी चीजे सिखने तथा उन्हे लोगो के साथ शेयर करना पसंद है. क्योकि मैं भी आपकी तरह ही हु. अगर आपको हमारा काम पसंद आता है तो हमे सोशल साईट पर फॉलो कर सकते है.

2 COMMENTS

  1. भाई मैंने आपका पूरा आर्टिकल पड़ा एकदम मस्त आर्टिकल लिखा है आपसे । उम्मीद करते हैं आप ऐसे ही बेहतरीन आर्टिकल लिखते रहेंगे।
    ups full from in hindi

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here