IP Full Form In Hindi – आप भी जानिए आईपी का फुल फॉर्म

IP क्या होता है, IP Full Form क्या है. आईपी का पूरा नाम क्या है, IP कितने प्रकार का होता है. अगर आप IP से संबंधित इन सभी सवालों का जवाब ढूंढ रहे है. तो आज के आर्टिकल में हम आपको Full form of IP, Full form IP Address के बारे में बताने जा रहे है. तो चलिए Start करते हैं।

IP Full Form In Hindi – आईपी एड्रेस क्या होता है?

ip full form

दोस्तों, IP Address का फुल फॉर्म “Internet Protocol” होता है. इसे हिंदी भाषा मे भी “इंटरनेट प्रोटोकॉल” के नाम से ही जाना जाता है. IP Address का इस्तेमाल तभी से किया जा रहा है. जब से इंटरनेट का खोज हुई है।

आईपी IP Address क्या होता है? – Full Form of IP

जिस तरह आपकी पहचान के लिए आपका नाम रखा गया है. ठीक उसी प्रकार मोबाइल, कंप्यूटर की पहचान करने के लिए IP Address बनाया गया है. जो कि एक यूनिक संख्या होती है। इसकी मदद से किसी भी डिवाइस को पहचान मिल जाती है. क्योंकि जब आप अपने डिवाइस से इंटरनेट पर कोई भी चीज सर्च करते है. तो आपके IP से ही राऊटर को ये पता लग पाता है. कि ये इनफार्मेशन कहा भेजनी है। उसके बाद ये राऊटर सभी डेटा को कलेक्ट करके आपके डिवाइस के IP Address पर भेज देता है।

IP कितने प्रकार के होते है? – Types Of IP Address

आईपी एड्रेस दो प्रकार के होते है!

  • Private IP Address
  • Public IP Address

Private IP Address क्या होता है?

दुनिया मे मौजूद सभी कंप्यूटर या डिवाइस किसी केबल या फिर वायरलेस की मदद से एक दूसरे से कनेक्ट रहते है. तो ये एक प्राइवेट नेटवर्क बन जाते है. और इस नेटवर्क के अंदर सभी तरह के फ़ाइल और डाटा को शेयर करने के लिए एक यूनिक आईपी एड्रेस का इस्तेमाल किया जाता है। जैसे – FTP Server, Email Server, IP Camera, Web Hosting, या Remote Computer के लिए इसका इस्तेमाल किया जाता है।

Public IP Address

पब्लिक आईपी एड्रेस भी दो प्रकार के होते है. पहला स्टेटिक और दूसरा डायनामिक. हालांकि स्टेटिक आईपी एड्रेस को बदला नही जा सकता. लेकिन डायनामिक आईपी एड्रेस बदल सकता है. क्योंकि ज्यादातर इंटरनेट यूजर्स के पास डायनामिक आईपी एड्रेस ही होता है. और जब ये इंटरनेट से डिसकनेक्ट होता है. तो हर बार नया IP Address प्रयोग में लेता है।

आईपी एड्रेस दिखने में कैसा होता है? – (Format Of IP)

IP Address बाइनरी संख्या से बनते है जो 32 बिट के होते है. इसे आसानी से याद रखने के लिए इनके बीच मे दशमलव का प्रयोग किया जाता है. जो इसे चार भागों में अलग कर देते है और प्रत्येक भाग में 0 से लेकर 255 के बीच तक संख्या ही इस्तेमाल की जा सकती है.

Example – 182.184.115.29

हालांकि अब ये IP Address की संख्या खत्म होने की कगार पर है. क्योंकि टेक्नोलॉजी से भरी इस दुनिया मे इतने ज्यादा डिवाइस का निर्माण हो रहा है कि उनमें IP Address का इस्तेमाल करना बढ़ गया है. जिसकी वजह से IPv4 और IPv6 को विकसित कर लिया गया है. जो कुछ इस प्रकार दिखते है 200d:bd4:0:1143:0:367:1:2 इनका फुल फॉर्म कुछ इस प्रकार है।

  • IPv4 – Internet Protocol Version 4
  • IPv6 – Internet Protocol Version 6

Tips

तो दोस्तो मैं उम्मीद करता हु आपको IP Full Form In Hindi पता चल गया होगा. अगर आपको Internet के बारे में जानकारी लेनी है. तो आप इसे पढ़ सकते है. साथ ही इस जानकारी को अपने दोस्तों के साथ सोशल मीडिया पर शेयर करना ना भूले. हम आपसे मिलते है एक और नई जानकारी के साथ. तब तक के लिए Thanks For Reading & Keep Visit Again.

Join Our Telegram Channel

क्या आप इनके फुल फॉर्म जानते है!

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here