CM का Full Form क्या होता है? सीएम की सैलरी कितनी होती है?

CM Full Form In Hindi – आप लोगो ने CM पद के बारे में ज़रूर सुना होगा। यह पद राज्य सरकार को चलाने के लिए होता है। जिसके द्वारा देश के राज्य पर शासन किया जाता है। लेकिन एक राज्य का केवल एक ही CM होता है। जिसके पास राज्य को कंट्रोल और कानून व्यवस्था बनाए रखने की power होती है। यह पद बहुत ही जिम्मेवारियों से भरा हुआ होता है।

यदि कोई भी व्यक्ति CM पद के लिए चुनाव लड़ना चाहता है तो उसको चुनाव लड़ने का पूरा अधिकार देश के संविधान के द्वारा प्राप्त है। क्योंकि हमारा देश दुनिया का सबसे बड़ा लोकतंत्र है। और यहाँ कोई भी व्यक्ति CM पद या प्रधानमंत्री पद के लिए चुनाव में खड़ा हो सकता है। तथा यह निर्णय जनता करती है कि कौन सी party जीतेगी।

जब कोई भी party चुनाव जीत जाती है तो जीते हुए party के विधानसभा सदस्यों के द्वारा CM के पद के लिए उनमें से किसी एक व्यक्ति को चुना जाता है। जिसका शासन काल केवल 5 वर्षो के लिए होता है। उसके बाद फिर से राज्य में चुनाव करवाया जाता है। जो कि चुनाव आयोग के द्वारा निर्धारित व संपन्न किया जाता है।

जब चुनाव आयोग द्वारा चुनाव की तिथि की घोषणा की जाती है तब उसके साथ ही राज्य में अचार संहिता लगा दी जाती है। तथा इसके तहत सभी राजनैतिक दल कुछ खास नियमों का पालन करने के लिए बाध्य होते है।

तो चलिए अब CM पद के बारे में विस्तार से जान लेते है कि CM कैसा बना जाता है। राज्य के CM के क्या अधिकार होते है। किसी भी राज्य के CM को कैसे चुना जाता है। तथा CM की salary कितनी होती है। एवं CM का Full Form क्या होता है?

CM के बारे में जानकारी – Full Form of CM In Hindi

what is the full form of cm

CM का Full Form “Chief Minister” होता है। जिस तरह देश का मुखिया प्रधानमंत्री होता है। उसी तरह राज्य का मुखिया “मुख्यमंत्री” होता है। अधिनियम 1935 E के तहत जैसे पूरी देश की जनता के मुख्य व्यक्ति प्रधानमंत्री होते है। उसी प्रकार राज्य के द्वारा चूना हुआ CM उस राज्य का मुखिया होता है। जो कि राज्य के सभी प्रकार के होने वाले कार्यो के लिए जिम्मेदार होता है।

यदि राज्य में किसी भी प्रकार की योजना को जनहित के लिए लागू किया जाना है तो उसके लिए सभी प्रकार की योजनाओं को pass करने का कार्य राज्य के CM द्वारा ही किया जाता है। राज्य के मुख्यमंत्री का कार्य यह भी देखना होता है कि राज्य में कहा और कितनी development की जरूरत है और उसी के अनुसार राज्य सरकार के द्वारा आर्थिक फैसले भी लिए जाते है और उन कार्यो को करने की मंजूरी भी दी जाती है।

किसी राज्य का CM कैसे चुना जाता है।

जब किसी भी राज्य में CM का चुनाव होता है तो वह उस राज्य की जनता के द्वारा ही तय किया जाता है। चुनाव की पूरी जिम्मेदारी चुनाव आयोग की होती है। और जब पिछले सरकार का कार्यकाल खत्म होने वाला होता है। (जो कि 5 सालों के होता है।) उस से पहले ही चुनाव आयोग के द्वारा उस राज्य में चुनाव की घोषणा भी कर दी जाती है। तथा चुनाव की तिथि की घोषणा के बाद वहाँ पर अचार सहिता लगा दी जाती है जिसमे सभी दलों की पार्टीयो को कुछ नियम और पाबंदियों का पालन करना पड़ता है। चुनाव में जो भी पार्टी जीत जाती है। तो उनको सरकार बनाने के लिए आमंत्रित किया जाता है जिसके बाद उन्हे संविधान की रक्षा की सपथ दिलाई जाती है।

बहुमत क्या होता है।

आज के समय मे बहुत से लोगो को, सरकार में बहुमत क्या होता है? इसके बारे में basic जानकारी तक नही है। तो यदि आप भी उन लोगो मे से है तो चलिए हम आपको बता देते है। किसी भी सरकार में बहुमत वो अंक होता है जो कि total numbers के आधे से एक या उससे अधिक अंक होता है। जैसे कि उदाहरण के लिए मान लेते है, कि किसी राज्य में चुनाव हो रहा है। जहाँ total seats की संख्या 100 है।

तो यहाँ किसी भी party को जीतने और सरकार बनाने के लिए कम से कम 51 seats को जीतना जरूरी होगा। तभी किसी भी पार्टी को सरकार बनने के लिए राज्यपाल के द्वारा आमंत्रित किया जाएगा। और यदि बहुमत की संख्या किसी भी पार्टी को चुनाव के दौरान नही मिलती है तो उन्हे अन्य सहयोगी पार्टियाँ साथ मिलकर भी बहुमत का आंकड़ा प्राप्त कर सकते है। और सरकार बना सकते है।

गठबंधन सरकार क्या होता है।

गठबंधन की सरकार में, कैबिनेट में उन सभी दलों के लोग शामिल होते है जिनके साथ पार्टी का गठबंधन बना होता है। ऐसे सरकार में सभी निर्णय अधिक विचार विमर्श और सभी की सहमति के बाद ही लेना पड़ता है। लेकिन कई बार यह भी देखा गया है कि गठबंधन की सरकारें अक्सर गिर जाती है।

क्योंकि गठबंधन की सरकार बनाने के पीछे कारण यह दिया गया है कि कई बार किसी पार्टी के पास बहुमत का आंकड़ा नही होता है। जिस कारण वह पार्टी अकेले सरकार नही बना सकती है। क्योंकि वह संसद में अपनी बहुमत नही साबित कर सकते है। इसलिए बहुमत के आंकड़े को पाने के लिए पार्टियाँ अन्य पार्टियों के साथ गठबंधन बना लेती है। और बची हुई seats उनसे प्राप्त कर लेती है। ताकि बहुमत के आंकड़े तक पहुँचा जा सके।

CM बनने के लिए क्या योग्यता होनी चाहिए।

आज के समय मे बहुत से लोगो को इसके बारे में सही जानकारी नही है। की आखिर सीएम बनने के लिए क्या योग्यता होनी चाहिए किसी भी राज्य का CM बनने के लिए? तो यदि आपके मन में भी यह प्रश्न है तो चलिए हम आपको बताते है। हमारे भारतीय संविधान में राज्य के CM की योग्यता को लेकर कही भी कुछ भी नही लिखा गया है। अगर आप अधिक पढ़े लिखे भी नही है। तो भी आप किसी भी राज्य के CM के पद पर बैठ सकते है।

लेकिन इसके लिए एक Rule ज़रूर है। वो ये की आप भारत के नागरिक होने चाहिए। तभी आप किसी भी राज्य के मुख्यमंत्री के पद पर विराजमान हो सकते है।

लेकिन ऐसा भी नही है कि कोई भी व्यक्ति आकर Chief minister के पद पर बैठ सकता है। CM के पद पर बैठने के लिए सबसे पहले आपको और आपकी पार्टी को चुनाव लड़ना होगा और उस राज्य के चुनाव में आपकी पार्टी को बहुमत का आंकड़ा भी लाना होगा। जब आपकी पार्टी के पास बहुमत का आंकड़ा होगा उसके बाद राज्य के राज्यपाल के द्वारा आपको सरकार बनाने के लिए आमंत्रित किया जाता है। यहां राज्यपाल के द्वारा किसी भी प्रकार से CM पद उम्मीदवार से उसकी शिक्षणिक योग्यता के बारे में नही पूछा जाता है।

CM का कार्य क्या होता है।

  • राज्य की सबसे बड़ी शक्ति, उस राज्य के CM को प्राप्त होती है।
  • किसी भी CM का पहला काम मंत्रिपरिषद को बनाने का होता है। और उसके लिए सभी सदस्यों की नियुक्ति करना भी होता है।
  • CM को मंत्रिपरिषद के सदस्यों की संख्या को निश्चित करता है और उसके लिए names की एक List तैयार करता है। इस कार्य मे CM के पास पूरी स्वतंत्रता प्राप्त होती है।
  • सीएम का कार्य सभी पदों के लिए मंत्रियों और विभागों को बांटने का भी होता है।
  • CM के द्वारा ही मंत्रिपरिषद की अध्यक्षता की जाती है। अन्य किसी व्यक्ति को मुख्यमंत्री के रहते हुए इसका अधिकार नही होता है।
  • किसी भी राज्य सरकार में मंत्रिपरिषद की बैठक CM के द्वारा ही बुलाई जाती है।
  • राज्यपाल, CM और मंत्रिपरिषद के बीच मे सभी संबंधित कार्यो को करता है।
  • किसी भी प्रकार के निवेश से related या फिर विकास के कार्य की चर्चा या निर्णय CM की अध्यक्षता में ही की जाती है।
  • राज्य में जितने भी प्रकार की योजनाएं लागू की जाती है या फिर कैबिनेट में लाई जाती है। वह भी मुख्यमंत्री और मंत्रिपरिषद के साथ चर्चा के बाद ही बनाई जाती है।
  • राज्यपाल CM के कहने पर ही सभी उच्च अधिकारियों की नियुक्ति करता है।
  • राज्य का मुख्यमंत्री अपनी पार्टी का भी अध्यक्ष होता है।

CM की Salary कितनी होती है।

अगर हम राज्य के CM की Salary के बारे में बात करे तो प्रत्येक राज्य के CM की salary अलग अलग होती है। और यह salary कितनी मिलनी चाहिए इसको तय करने का अधिकार विधानसभा के पास होता है। लेकिन अगर मुख्यमंत्री की basic salary मान के चले तो 55 हज़ार होती है। इसके साथ उनको यात्रा के लिए 2 लाख रुपए, सचिवालय के लिए 30 हज़ार, रोज़ का खर्च 1500 रुपए अलग से दिए जाते है। यानी कि कुल मिलाकर 286500 के करीब वेतन मिलता है।

Tips

इस article के जरिए आप ने जाना कि CM (Chief Minister) क्या होता है। तथा CM को कैसे चुना जाता है। और किसी भी राज्य के पास CM के पास क्या विशेष अधिकार होते है।

CM का पद किसी भी राज्य का सबसे उच्च पद होता है। जिसके द्वारा राज्य को चलाया जाता है और राज्य में कानून व्यवस्था को बनाए रखने की ज़िम्मेदारी होती है। इसके साथ साथ अपने राज्य के रहने वाले लोगो के लिए कार्य भी करना पड़ता है। और उनके परेशानियों को सुनना तथा उसका समाधान करना भी राज्य सरकार के उच्च पद पर बैठे मुख्यमंत्री का ही कार्य होता है।

राज्य में कितना विकास हुआ और कितना कहा कहा करना बाकी है इसका निर्णय भी CM व कैबिनेट के द्वारा ही लिया जाता है। एक राज्य का CM बनाना मतलब राज्य की सेवा व विकास के कार्यो को करना होता है।

किसी भी राज्य के Chief minister के पास उस राज्य को control करने कि पूरी power होती है। लेकिन यदि किसी भी राज्य के CM द्वारा किसी भी प्रकार से संविधान के विरुद्ध किसी कार्य को करता है। तो उसके खिलाफ कानूनी कार्यवाही भी की जा सकती है।

दोस्तों आप लोगो को CM का Full Form, Salary, योग्यता के ऊपर दी गई ये जानकारी कैसी लगी आप हमें अपने विचार comment के द्वारा ज़रूर बताएं। इसके साथ साथ इस post को अपने सभी नज़दीकी मित्रों और परिवारजनों के साथ भी share करेज़ ताकि उन लोगो को भी CM पद के बारे में जानकारी प्राप्त हो सके।

Join Our Telegram Channel

Read More

नमस्ते, मेरा नाम Samir है मै HFT का Co-Author & Founder हु मुझे हमेशा से नयी चीजे सिखने तथा उन्हे लोगो के साथ शेयर करना पसंद है. क्योकि मैं भी आपकी तरह ही हु. अगर आपको हमारा काम पसंद आता है तो हमे सोशल साईट पर फॉलो कर सकते है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here