ATM का Full Form क्या होता है? – जानिए एटीएम के बारे मे!

ATM का Full Form क्या होता है? – आज ऐसा कोई भी व्यक्ति नही है. जिसको ATM Machine के बारे मे जानकारी न हो, क्योंकि आज के समय मे ये सभी की जरूरत बन चुका है और न चाहते हुए भी व्यक्ति इसका उपयोग तो करता ही है।

ATM machine की खास बात यही है कि इसके द्वारा आप किसी भी जगह से अपने bank account में मौजूद पैसे को कभी भी निकाल सकते है। उसके लिए आपके पास बस अपने bank account का debit card होना चाहिए। जिसे हम ATM card के नाम से भी जानते है। यदि आपके पास अपना ATM card नही है और आपका account किसी भी bank में मैजूद है तो bank में जाकर, ATM card की demand करते है तो bank आपको ATM Card कुछ दिनों में बना कर दे देता है।

ATM CARD को इस्तेमाल करने के साथ-साथ आपको हमेशा सावधान भी रहना चाहिए ताकि आपके साथ कही कोई fraud जैसी घटना न हो जाए। आज कल के समय मे ऐसे बहुत से लोग है जो ऐसे ही काम करते है, इसलिए आप जब भी ATM से अपने पैसे निकालने के लिए जाए तो आप हमेशा खुद ही सभी प्रकार के transactions process को करे, किसी की help न ले और यदि आपको एटीएम का इस्तेमाल करना नहीं आता है.

तो वहाँ मौजूद guard से मदद ले सकते है। लेकिन यदि आपको पैसे ATM से withdraw करना नहीं आता है तो चिंता मत कीजिए मैंने इस post में money withdraw के process को भी बताया है। तो आप ध्यान से इस post को पढ़ते रहिए ताकि आपको सभी चीज़े सही से पता लग सके और आप खुद ही बिना किसी मदद के पैसे निकाल पाए।

ATM क्या है, Full Form of ATM In Hindi

what is the full form of atm machine

ATM का full form “Automated Teller Machine” होता है जिसका आविष्कार john shepherd Barron ने किया था। जो कि आज के समय मे इस्तेमाल करने वाले बहुत ही कम लोगो को मालूम होगा।

जैसा कि सभी को पता है कि ATM machine का उपयोग हम अक्सर पैसों को withdraw करने के लिए करते है और यह आज यह लोगो की एक अहम जरूरत भी बन चुका है लेकिन आज के समय मे लोग online payment करना भी पसंद करते है जैसे कि UPI के द्वारा या फिर swipe machine के द्वारा, जो कि दोनों में ही ATM card का प्रयोग होता है।

अब आप यह सोच रहे होंगे कि swipe machine में तो हम अपने ATM debit card का उपयोग करते है लेकिन upi में कैसे? तो हम आपको बता दे कि UPI भी atm based ही payment system होता है जो कि virtually तरीके से काम करता है इसमे आपके atm card की details save होती है जो कि upi pin से secure होता है और जब भी आप किसी को अपने upi address से payment करते है तो आपका पैसा atm card के माध्यम से ही किसी को प्राप्त होता है।

ATM की history क्या है इसका आविष्कार किसने किया था।

ATM machine का आविष्कार सन 1960 में john shepherd Barron ने किया था. सबसे पहले ATM मशीन का commercially उपयोग 27 जून 1967 में बर्कलेज़ बैंक जो कि लंदन के एक बैंक था उसमें किया गया था। आज जिस मशीन को आप ATM के नाम से जानते है उसको 1960 में बैंकोग्राफ के नाम से जाना जाता था।

John shepherd Barron ने इस machine को 1960 में ही बना दिया था और वो चाहते थे की इसका इस्तेमाल सभी लोग खुल कर करे. लेकिन क्या अपने यह सोचा है कि machine में password 4 digit का ही क्यों होता है? यदि नही मालूम है तो हम आपको बताते है।

वैसे तो john इस machine का password 6 अंकों का रखना चाहते थे. लेकिन उनकी पत्नी को numbers याद रखने में बहुत परेशानी होती थी तो उनको उनकी पत्नी ने कहा कि आप इसके password को 4 अंकों का रखो. ताकि सभी को याद करने में आसानी रहे. इसलिए ATM के सभी PASSWORD आज भी 4 अंकों के होते है।

हमारे देश भारत मे पहली बार ATM MACHINE को मुम्बई के हांगकांग एंड शांघाई बैंकिंग कॉरपोरेशन में लगाया गया था। लेकिन उस समय यह इतना प्रचलित नही था और सभी बैंक कर्मियों को इसे operate करने में भी परेशानी होती थी जिसकी वजह से इसे इतना उपयोग नही किया जाता था और इसको लेकर भी बैंकों के मन मे संदेह था कि कही बाहर खुले मे इस मशीन को रख दिया तो पैसे कोई भी लेकर भाग सकता है।

इस कारण से भी atm machine को देर से India में commercially किया गया। लेकिन आज यह सभी की एक जरूरत बन चुका है और आज आपको ATM MACHINE बाहर किसी भी जगह खुले में ही देखने को मिल जाते है खासकर markets में तो और भी अधिक होते है।

ATM से पैसे आसानी से कैसे निकले।

अगर आपको ATM से पैसे निकालने नहीं आते है तो इसमे चिंता करने की कोई जरूरत नही आज भी बहुत से ऐसे लोग है जो कि technology से खुद को connect नही कर पाए है क्योंकि या तो उनको इसके बारे में पूरी जानकारी नही होती है या फिर वो लोग डरते है कि कही कुछ गलत न हो जाएं जिसकी वजह से उनके पैसे किसी अन्य को न मिल जाए। तो चलिए आपकी चिंता को कम करते है और आपको बताते है कि कैसे आप आसानी से ATM का इस्तेमाल करके अपने पैसों को निकाल सकते है।

  • सबसे पहले तो जब आप ATM के सामने जाते है तो right side में card insert करने की जगह होगी जहाँ अधिकतर green light blink कर रही होती है।
  • जब आप card को उसमे डाल देंगे तो अब screen पर भाषा चुनने को कहा जायेगा तो आपको जो भी भाषा आती है वो select कर लिजीए। मै तो आपको English ही select करने को कहूँगा लेकिन आप Hindi भी चुन सकते है।
  • अब बहुत से option आपके सामने आ जाते है यहाँ आपको cash withdraw (नगद निकासी) के option पर click करना है।
  • आपके सामने account choose करने का option होगा तो आपका यदि saving account (बचत खाता) है तो आप इस पर click करे और यदि current account (चालू खाता) है तो current को choose करे। लेकिन यदि आप simple account use करते है तो saving account के option पर click करे।
  • अब आपको यहाँ जितना पैसा निकालने है उतना amount डाल दिजीए और confirm पर click कर दिजीए।
  • आपको अपने ATM Card का password enter करना होगा जो कि आपको card के साथ ही मिलता है एक secret envelope में, उस code को enter कर दिजीए जो कि चार नंबर का होता है।
  • इस process को सही से follow करने के बाद अब आपके पैसे निकल आएँगे।

ATM के फायदे क्या क्या है

  • आप अपने पैसों को कही से भी निकाल सकते है यहाँ तक कि visa ATM card आपको international पैसे निकालने की सुविधा भी देता है।
  • आज कल के latest ATM machine में पैसों को अपने account में deposit करने की भी सुविधा होती है।
  • आपको बार बार bank में जाना नही पड़ता है।
  • आप किसी और के account में पैसे, direct अपने account से ATM के द्वारा transfer कर सकते है।

ATM इस्तेमाल करते वक़्त किन सावधानी को Avoid नही करना चाहिए।

  • कभी भी अपने ATM का password किसी भी व्यक्ति से share न करे।
  • अपना cvv no भी किसी के साथ share न करे।
  • आप अगर कभी भी online money transaction करते है तो website के ऊपर URL में यह ज़रूर देख ले कि वहाँ HTTPS ज़रूर लिखा हो और एक green lock भी बना होता है इसका मतलब की वह website पूरी तरह से secure है।
  • किसी भी website से यदि पैसों का transaction करते है तो यह ज़रूर सुनिश्चित कर ले कि वो official website ही हो ताकि आपके खर्च किए गए पैसों से value product ज़रूर मिले।

Tips

आप ने इस post के द्वारा जाना की ATM क्या है इसका full form क्या होता है (atm full form in Hindi) तथा इसका आविष्कार किसने किया था। ATM से पैसे कैसे withdraw कर सकते है और इसके क्या फायदे है और क्या सावधानियां आपको बरतनी चाहिए।

वैसे तो आज atm सभी की जरूरत बन चुका है लेकिन आज भी हमारे देश मे गांव के कुछ लोग ऐसे भी है जिनको अभी भी सही से atm को इस्तेमाल करना नही आता है इसी वजह से वो लोग कई बार बुरे लोगो की बातों में आ जाते है जिसकी वजह से उनके जीवन भर की जमा पूँजी चोरी हो जाती है और बाद में उनको बहुत सी परेशानियों का सामना करना पड़ता है.

यहाँ तक कि कई बार उनका पैसा refund भी नही होता है। ऐसा नही है कि यह केवल गांव में होता है बड़े बड़े शहरों में भी ऐसी यह घटनाएँ आए दिन होती है। लेकिन अब RBI ने आपको security भी प्रदान की है यदि आप के साथ कभी ऐसा होता है तो आप तुरंत यदि अपने bank को inform करते है तो आपके पैसे वापिस मिलने के chances बहुत बढ़ जाते है।

दोस्तों मै तो आपको यही सलाह दूँगा की आप अपने ATM से related कोई भी information किसी भी व्यक्ति के साथ कभी share न करे खासकर की cvv number और password क्योंकि ATM companies आपको यह extra layer security के कारण ही देते है ताकि आसानी से कोई भी third person आपके एटीएम से पैसे न निकाल पाए।

आपको यह जानकारी कैसी लगी हमें comment के द्वारा जरूर बताएं और इस post को सभी दोस्तों के साथ भी share करे ताकि यदि उनको जानकारी नही है तो उन्हें भी जानकारी हो और वो भी सावधान रहें।

Join Our Telegram Channel

Read More

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here